सबरीमाला आंदोलन स्थल: वाम, कांग्रेस की पकड़ को ढीला करने की कोशिश कर रही है BJP  

Samachar Jagat | Thursday, 04 Apr 2019 05:51:04 PM
Sabrimala Movement site

पत्तनमतिट्टा (केरल)। सबरीमाला मुद्दे का आंदोलन स्थल रहे पत्तनमतिट्टा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में पारंपरिक रूप से द्बिध्रुवीय चुनाव होता रहा है, लेकिन इस बार मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है और भाजपा उन मतदाताओं के सहारे जीत की उम्मीद लगाए बैठी है जो पर्वतीय तीर्थस्थल में महिलाओं के प्रवेश को अनुमति देने वाले उच्चतम न्यायालय के आदेश के क्रियान्वयन के विरोध में हैं।

BJP ने अपने महासचिव के. सुरेंद्रन को मैदान में उतारा है जिन्होंने मंदिर की परंपराओं को बदले जाने के खिलाफ सबरीमला विरोध प्रदर्शनों का नेतृत्व किया। वहीं, कांग्रेस नीत यूडीएफ के दो बार सांसद रहे एंटो एंटनी को शिकस्त देने के लिए सत्तारूढ़ एलडीएफ ने इस सीट से अरनमुला की अपनी विधायक वीणा जॉर्ज को उम्मीदवार बनाया है।

भगवान अयप्पा तीर्थस्थल में सभी उम्र की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देने वाले उच्चतम न्यायालय के 28 सितंबर के आदेश को क्रियान्वित करने के वाम सरकार के फैसले का विरोध एक बंड़े आंदोलन में तब्दील होकर पूरे देश की सुर्खियां बन गया था। सबरीमला आंदोलन का नेतृत्व श्रद्धालुओं के एक तबके, दक्षिणपंथी संगठनों तथा भाजपा-आरएसएस ने किया था।

प्रदर्शनों के दौरान सुरेंद्रन को गिरफ्तार किया गया था और हत्या की कोशिश तथा महिलाओं की गरिमा भंग करने के लिए आपराधिक बल प्रयोग जैसे विभिन्न आरोपों में उन्हें जेल में रखा गया था। इस लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत पत्तनमतिट्टा तथा कोट्टायम जिले की विधानसभा सीट आती हैं।

वर्ष 2009 और 2014 में इस सीट से जीतने वाले यूडीएफ के एंटनी तीसरी बार जीत के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते। 2014 में उन्हें 41 प्रतिशत मत मिले थे और वह 56,191 मतों के अंतर से जीते थे। दूसरी ओर, वीणा जॉर्ज और सुरेंद्रन भी जीत को लेकर आश्वस्त नजर आते हैं।

सुरेंद्रन निर्वाचन क्षेत्र में लोगों और जानी-मानी हस्तियों से मिलने में व्यस्त हैं। उनका कहना है कि वह विकास के मुद्दे पर जीतना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हमें मोदी सरकार को वापस लाने की आवश्यकता है। केवल भाजपा ही सबरीमाला को विश्व प्रसिद्ध तीर्थ केंद्र के रूप में विकसित कर सकती है। जब सबरीमला का विकास होगा तो पत्तनमतिट्टा जिले और निर्वाचन क्षेत्र का विकास होगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.