एक्सलरेट विज्ञान से मशीनों का इस्तेमाल सीखेंगे वैज्ञानिक

Samachar Jagat | Monday, 12 Feb 2018 04:36:06 PM
Scientists will learn to use machines from excelatory science

नई दिल्ली। वैज्ञानिकों, अनुसंधानकर्ताओं तथा पीएचडी छात्रों को विभिन्न उन्नत मशीनों के इस्तेमाल में दक्ष बनाने के लिए सरकार जल्द ही 'एक्सलरेट विज्ञान’ नाम से एक कार्यक्रम शुरू करने वाली है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सचिव आशुतोष शर्मा ने यहाँ एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि 'एक्सलरेट विज्ञान’ के तहत हर साल 200 कार्यशालाएँ एवं प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

बाहरी मधुमक्खियों से पौधों के अस्तित्व पर खतरा

इन शिविरों में वैज्ञानिकों एवं अनुसंधानकर्ताओं के साथ पीएचडी छात्रों को भी मशीनों के इस्तेमाल की जानकारी दी जाएगी। इस कार्यक्रम की शुरुआत आगामी वित्त वर्ष में होगी। शर्मा ने बताया कि इसके अलावा देश की विभिन्न प्रयोगशालाओं में उपलब्ध मशीनों के ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल एवं उपलब्धता के लिए एक पोर्टल भी बनाया जाएगा।

'बंदर से मानव की उत्पत्ति कैसे हुई’ इसे साबित करने के लिए डार्विन सप्ताह

इस पोर्टल पर वैज्ञानिक यह देख सकेंगे कि किसी प्रयोगशाला की कौन सी मशीन कब उपलब्ध होगी। इससे यदि किसी एक प्रयोगशाला में कोई मशीन है तो उसका लाभ दूसरी प्रयोगशाला के वैज्ञानिक भी उठा सकेंगे।

जानिए! भारतीय और विश्व इतिहास में क्या-क्या हुआ 12 फरवरी के दिन

उपलब्धता के साथ इस पोर्टल पर मशीनों के रखरखाव और उनके इस्तेमाल के तरीकों के बारे में भी जानकारी दर जाएगी । इस्तेमाल के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण मिल जाने से मशीन के इस्तेमाल के दौरान वैज्ञानिक ज्यादा सहज महसूस कर सकेंगे। एजेंसी

मोबाइल ऐप करेगा पर्यावरण संरक्षण के प्रति किसानों को जागरूक

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.