आधुनिक हाकी में आत्ममुग्धता के लिये जगह नहीं : रीड

Samachar Jagat | Thursday, 06 Jun 2019 10:23:07 AM
There is no room for Self-conceit in modern hockey: Reed

भुवनेश्वर। भारतीय पुरूष हाकी टीम के मुख्य कोच ग्राहम रीड ने बुधवार को यहां कहा कि किसी भी बड़े खेल में आत्ममुग्धता के लिये कोई जगह नहीं होती है और किसी भी प्रतिद्वंद्वी का सम्मान करना टीम की विशिष्ट पहचान होती है। रीड ने यह टिप्पणी एफआईएच सीरीज फाइनल्स के संदर्भ में की जिसमें भारत को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है क्योंकि उसे कम रैंकिंग वाली टीमों का सामना करना है। 

Rawat Public School

रीड ने विश्व में 22वें नंबर के रूस के खिलाफ पूल ए के मैच की पूर्व संध्या पर पीटीआई से कहा, मेरे हिसाब से किसी भी उच्च प्रदर्शन वाले खेल में आत्ममुग्धता कोई विकल्प नहीं है। मैं हमेशा अपने प्रतिद्वंद्वी का सम्मान करने की कोशिश करता हूं भले ही वह कोई भी हो। वे आपके खिलाफ गोल कर सकते हैं और यहां रेफरल भी नहीं है। भारत पांचवीं रैकिंग पर हैं और टूर्नामेंट में सबसे अधिक रैंकिंग वाली टीम हैं। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.