जयपुर के युवाओं ने तैयार किए कोरोना से लड़ने के लिए रोबोट, कुछ रोबोट को करते है सामाजिक कार्यो के लिए  फ्री में सेवाएं  !! 

Samachar Jagat | Wednesday, 16 Sep 2020 11:14:16 AM
The youth of Jaipur prepared robots to fight Corona, some robots do services for social work for free !!

सिटी रिपोर्टर, जयपुर। इंजीनियर्स डे जयपुर के लिए खास रहा। क्योंकि कोविड-19 से राहत देता हुआ डिसइन्फेक्ट करने वाला रोबोट के साथ कोरोना से लड़ने के लिए युवाओं के बनाए रोबोट भी पेश किए गए। इन् रोबोट्स का इस्तेमाल सोशल कॉज के लिए शुरू किया गया है। अलग-अलग स्थानों पर जहा जरुरत है नि:शुल्क सेनेटाइज़शन ये रोबो कर रहे हैं। 

इससे इंफेक्शन वाली जगह जाए बिना ही रोबोट को वहाँ रिमोट और एप्लीकेशन के माध्यम से भेजकर इंफेक्शन को दूर किया जा सकता है। क्योंकि ये मोबाइल या टेब से ऑपरेट होता है। ऐसे रोबोट का चलन इन दिनों जयपुर में बढ़ा है। इंजीनियस डे मोके पर इन रोबोट जयपुर में कई जगह पर फ्री सेनेटिज़्शन किया गया। युवाओं ने भगवान् महावीर कैंसर हॉस्पिटल और गौतम हॉस्पिटल में सेनेटीजेसंन किया। 

कोरोना काल मे बढ़ गया चलन:

 कोविड टाइम में इनफेक्षन से दूर रखने के लिए हॉस्पिटल में रोबोर्टस की काफी डिमाण्ड बढ गयी है। हूमैन कानटेक्टस को कम करने के लिए रोबोट चलन में है।हॉस्पिटल में मरीजों को खाना देना, रेस्टोरेंट में रोबोर्टस के द्वारा खाने का आर्डर लेना व टेबल पर खाना उपलब्ध कराना। एल्टीवायरल रोबोर्टस द्वारा हॉस्पिटल, होटेल, स्कूल, कॉलेज, यूनिर्वसिटीज आदि में, इनफेक्टेट एरिया को डिसइनफेक्ट करना।

ऐप्प से करो कंट्रोल, हॉस्पिटल और ऑफिस में उपयोग:

कोरोना के दौरान आर्य ग्रुप मैन कैंपस में युवाओं ने इसके उपयोग पर फोकस किया। ईसके माध्यम से बिना लोगो के संपर्क में आये कोई भी हॉस्पिटल, हाउस, स्कूल, कॉलेज, एयरपोर्ट, मॉल, ऑफिस आदि रूम सेनेटिज़ेशन ओर डिसिन्फ़ेक्टंट  का काम दूर बैठे हुए रिमोट या फिर एप्लीकेशन से किया जा सकता है। इसकी ख़ास बात ये है इससे हमे लोगो के संपर्क में आने से बचाव मिलता है। 

साथ ही इन दिनों लोग रेस्तरां में खाने से डरते हैं, क्योंकि सोशल डिस्टनसिंग नहीं होती। ऐसे में युवाओं ने रूबी रोबो स्पेशल रेस्तरां के लिए तैयार किया है। रोबोट का उपयोग सर्विसिंग करने या हेल्प करने में किया जाता सकता है।

मरीज की रिपोर्ट का रिकॉर्ड भी अब रोबो के जरिये: 

नैंसी नर्स रोबो भी इन दिनों चलन में है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर हॉस्पिटल्स में किया जाता है। इसमें मरीज की रिपोर्ट का रिकॉर्ड रख उनकी जानकारी रखते हैं। साथ ही ये इन्फेक्टिव एरिया में जहा बिना किसी के गए मरीज को चीज़े उपलब्ध करवा सकता है। 

साथ ही रोबो कोप गार्ड की तरह काम करता है। इसमें कैमरा लगा होता है, जिससे फेस रेकग्निजे किया जा सकता है और टेम्प्रेचर भी जान सकते है। साथ ही ये मॉल, सिनेमा हॉल, एयरपोर्ट, कॉर्पोरेट में सुरक्षा देता है। युवाओं ने बीओनिक हैंड भी बना दिया है, जो दिमाग के ऑर्डर देने से काम करता है। युवाओं के मेंटोर डॉ अरविन्द अग्रवाल ने बताया बच्चों ने कोरोना काल मे लड़ने के लिए ये इनोवेशन किए हैं। दिसिन्फेक्ट वाले रोबो में कीटाणुशोधन यूबी लाइट का इस्तेमाल किया गया है। साथ ही इसमें एक कैमरा लगा हुआ है। जगह -जगह घूम कर फोगिंग से सेनेटाइज़ेशन का कार्य करता है। इसके 1 टैंक की क्षमता 4 लिटिर तक है और स्पीड 0.6 मीटर/ से. और ये 2-3 घंटे लगातार कार्य कर सकता है। 

यहाँ कर रहे हैं काम: 

जयपुर के येलो चिल्ली रेस्टॉरंट, आई रोबो रेस्टॉरेंट, स्कूल, कॉलेजेस, जयपुर के साथ ही पानीपथ के कॉलेज, कोची केरला, आदि जगह. 

रोबोर्टस भारत में साईबर क्राइम दिल्ली पुुलिस आदि जगह कार्य कर रहे है और लोग इन्हे पसंद भी कर रहे है 

 कीमत: 

 अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में इन रोबोर्टस की कीमत काफी ज्यादा है, लेकिन अन्तर्राष्ट्रीय बाजार की कीमत से 25 से 30 प्रतिषत कम कीमत पर उपलब्ध करा रहे है। कुछ हद तक कीमत इनके एडओन फीचर्स पर निर्भर करती है। 

ऐसे खरीद सकते हैं:: 

 शोरूम व मैन्यूफेक्चरिंग प्लांट आर्या कूकस से व वेबसाईट www.irobolabs.com से।

 



 
loading...


Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.