श्रीलंका में चर्च और होटलों में धमाके, 100 लोगों की मौत, 450 घायल

Samachar Jagat | Sunday, 21 Apr 2019 01:38:01 PM
blasts in sri lanka churches

कोलंबो। ईस्टर के अवसर पर श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में रविवार को 3 कैथोलिक चर्च और तीन पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किए गए बम धमाकों में कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई जबकि करीब 450 लोग घायल हो गए।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह धमाके श्रीलंका की राजधानी कोलंबो और अन्य शहरों में चर्चों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए। श्रीलंका की स्थानीय समाचार वेबसाइट कोलंबो टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक सुबह साढे आठ बजे से नौ बजे के बीच कोलंबो में कोच्चिकडे के सेंट एंथनी चर्च, कटुवापिटिया के सेंट सेबेस्टियन चर्च और बटटीकालोआ के एक चर्च में सिलसिलेवार धमाके हुए।

इसके अलावा राजधानी कोलंबो के ही तीन पांच सितारा होटल शंगरी-ला, सिनामन ग्रैंड और किग्सबरी में भी धमाके हुए। घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इस बीच, भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, मैंने कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त के लगातार सम्पर्क बना रखा है। हम स्थिति पर बारीकी से नज़र रखे हुए हैं। धमाकों के मद्देनजर श्रीलंका में आपात बैठक बुलाई गयी है। इन धमाकों में कई विदेशी नागरिकों के भी मारे जाने और घायल होने की भी सूचना है। कोलंबो अस्पताल ने नौ विदेशी नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि की है। 

सिलसिलेवार धमाकों के बाद शहर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य जारी है। अब तक किसी भी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। श्रीलंका के वित्त मंत्री मंगला समरवीरा ने ट्वीट किया, चर्चों और होटलों में ईस्टर संडे बम धमाकों में निर्दोष लोग मारे गए हैं और ऐसा लगता है कि हत्या, अफरा तफरी और अराजकता फैलाने के लिए इसे बहुत व्यवस्थित तरीके से अंजाम दिया गया है। 

श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति और विपक्षी नेता महिदा राजपक्षे ने धमाकों की निदा करते हुए इसे अमानवीय करार दिया है। गौरतलब है कि ईसाई धर्म की मान्यताओं के अनुसार, गुड फ्राइडे के तीसरे दिन ईसा मसीह दोबारा जीवित हो गए थे, जिसे ईसाई धर्म के लोग ईस्टर संडे के नाम से मनाते हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.