Me Too Campaign : प्रिया रमानी को मानहानि मामले में बरी करते हुए दिल्ली कोर्ट ने कहा - एक महिला को सालों बाद भी अपनी शिकायत रखने का हक, सबको बराबरी का अधिकार संविधान में

Samachar Jagat | Wednesday, 17 Feb 2021 04:58:32 PM
Mee Too Campaign: While acquitting Priya Ramani in a defamation case, the Delhi Court said - a woman has the right to submit her complaint even after years, the right to equality in the constitution

इंटरनेट डेस्क। एमजे अकबर द्वारा दायर मानहानि के मामले में दिल्ली की कोर्ट ने आज बुधवार को प्रिया रमानी को बरी कर दिया। वरिष्ठ पत्रकार एमजे अकबर ने प्रिया रामानी के खिलाफ यह कहते हुए आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया था कि प्रिया रमानी ने मीटू कैंपेन के दौरान किए गए ट्वीट से उनकी मानहानि हुई है। जबकि उनके ऊपर इस तरीके के आरोप इससे पहले कभी नहीं लगे थे। अदालत में इस मामले पर लंबी बहस के बाद आज बुधवार को फैसला दिया है।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि समाज को एक पीड़ित के शारीरिक उत्पीड़न और शोषण को भी समझना होगा। बराबरी का अधिकार संविधान में सभी को मिला हुआ है और इस आधार पर एक पीड़िता के पास अधिकार है कि वह अपनी शिकायत किसी भी मंच पर उठा सके।

प्रिया रमानी को बरी करते हुए कोर्ट ने अपने आदेश में टिप्पणी करते हुए कहा कि एक महिला को सालों बाद भी सही अपनी शिकायत रखने का हक है। कोर्ट ने कहा है कि एक ऐसा शख्श जिसकी सामाजिक प्रतिष्ठा अच्छी हो वह यौन उत्पीड़न करने वाला भी हो सकता है। यौन उत्पीड़न से सामाजिक प्रतिष्ठा और मनोबल भी गिरता है।

 



 
loading...




Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.