Aadhaar फ्रेंचाइजी देने में रिश्वतखोरी के राज खुलने की संभावना

Samachar Jagat | Thursday, 22 Oct 2020 10:00:02 PM
Possibility of opening bribery secrets in giving Aadhaar franchise

कोटा। नई दिल्ली में एक लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में अपने कार्यालय से गिरफ्तार किए गए यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) के सहायक निदेशक पंकज गोयल द्बारा आधार कार्ड बनाने की फ्रेंचाइजी की मंजूरी देने की एवज में राजस्थान में ही नहीं उन राज्यों में भी बड़े पैमाने पर रिश्वत लेने की संभावना है जिनका उसके पास प्रभार था।

सूत्रों के अनुसार पंकज गोयल के पास राजस्थान के अलावा राजधानी दिल्ली, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में आधार की फ्रेंचाइजी जारी करने का भी प्रभार था। अभी तो उसका राजस्थान में केवल अजमेर में आधार फ्रेंचाइजी देने के लिए एक लाख रुपए की रिश्वत लेने का मामला सामने आया है, लेकिन राजस्थान में ऐसे कई मामले होने के अलावा उन राज्यों में भी इसने व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी की हो सकती है जिनका प्रभार इसके पास था।

सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को दिल्ली में रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किए जाने के बाद उससे पूछताछ के दौरान ऐसे खुलासे हो रहे हैं कि पंकज गोयल ने आधार की फ्रेंचाइजी देने की फाइलें निपटाने के लिए रिश्वत लेने के लिए और दलाल बनाये हों, क्योंकि इतने बड़े अधिकारी के किसी आवेदक से सीधे रिश्वत लेने की मांग करना सहज प्रतीत नहीं होता। दिल्ली से कोटा जाने के बाद कल और आज पंकज गोयल से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारी सीएडी स्थित कार्यालय में गहनता से पूछताछ कर रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार एसीबी की जांच का फोकस आधार की फ्रेंचाइजी देने के लिए उसके द्बारा मंजूर फाइलों और उसके दफ्तर में इससे संबंधित विचाराधीन फाइलों पर है ताकि दस्तावेजी आधार पर उसके खिलाफ सबूत जुटाए जा सके। उसके सेलफोन के कॉल रिकॉर्ड की भी विस्तृत जांच -पड़ताल होगी ताकि इसलिए संपर्क सूत्रों का पता लगाया जा सके। इसके अलावा यूआईडीएआई के उन अधिकारियों की पृष्ठभूमि की भी जांच होगी जिन्हें वह इस खेल में अपना भागीदार बताता था।

उल्लेखनीय है कि कोटा की एक अदालत ने एक लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किए गए केंद्र सरकार के यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) के अधिकारी पंकज गोयल को कल रात पूछताछ के लिए दो दिन के रिमांड पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) को सौंप दिया था। कोटा से गई भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने सहायक निदेशक के स्तर के अधिकारी पंकज गोयल को मंगलवार को नई दिल्ली में एक व्यक्ति से आधार पहचान पत्र बनाने की फ्रेंचाइजी देने की एवज में यह रिश्वत मांगी थी। ब्यूरो की टीम ने मंगलवार को उसे रंगे हाथों गिरफ्तार करने के बाद कोटा लाई थी। (एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.