लोगों को बैंकों से मिल सके अपनी सैलरी के पैसे, इसलिए आरबीआई ने उठाए ये 10 कदम

Samachar Jagat | Thursday, 01 Dec 2016 03:21:32 PM
लोगों को बैंकों से मिल सके अपनी सैलरी के पैसे, इसलिए आरबीआई ने उठाए ये 10 कदम

नई दिल्ली। सैलरी आने के बाद बैंकों और एटीएम से कैश की मांग पूरी करने के लिए आरबीआई ने खास तैयारी की है। सूत्रों के मुताबिक आरबीआई बुधवार शाम से बैंकों और एटीएम के लिए 500 के नए नोटों की सप्लाई तेज करने जा रहा है। इससे खुले का संकट कम होगा और बैंकों से लोगों के लिए अपनी सैलरी के पैसे को निकालने में सहूलियत होगी।

7 तक कैश फ्लो बढ़ाने पर जोर
सैलरी आने के बाद कैश की डिमांड बढऩे को लेकर आरबीआई ने तमाम बैंकों के साथ मिलकर योजना तैयार की है। इसके तहत बैंकों और एटीएम में 7 दिसंबर कर कैश फ्लो बढ़ाया जाएगा। खुले के संकट को दूर करने के लिए 500 के नए नोटों की सप्लाई पर खास ध्यान दिया जा रहा है।

युद्धस्तर पर चल रहा है काम
पिछले दो दिनों से आरबीआई की ओर से इस बारे में युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है। सैलरी आने के बाद लोग बैंकों और एटीएम से निकासी के लिए बड़ी संख्या में पहुंचेंगे। इसके मद्देनजर कैश सप्लाई को तेज किया गया है। 

शादी के लिए निकासी पर रोक के खिलाफ याचिका खारिज
इस बीच, दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें शादी के लिए सिर्फ ढाई लाख रुपये तक निकालने की सीमा में ढील देने का आग्रह किया गया था। 

मुख्य न्यायाधीश जी। रोहिणी और  न्यायसंगत  संगीता ढींगरा सहगल ने कहा, ‘रिट याचिका खारिज की जाती है।’ याचिका में नकदी सीमा में ढील देने के साथ ही इन ब्योरों को भी पेश करने के मार्गनिर्देश को ‘मनमाना’ करार दिया गया था जिसमें उन लोगों की विस्तृत सूची मांगी गई है।


 जिन्हें शादी के लिए निकाली गई रकम विभिन्न मद में दी जानी है और साथ ही इन मद में रकम पाने वाले से एक घोषणा भी देने के लिए कहा गया है कि उनके पास बैंक खाता नहीं है।

पहले की थी कड़ी टिप्पणी
उच्च न्यायालय ने 28 नवंबर को इसपर अपना फैसला यह कहते हुए सुरक्षित कर लिया था कि नोटबंदी के मुद्दे पर जहां भी जरूरत महसूस हुई सरकार ने ‘ढिलाई’ बरती है। इससे पहले, केन्द्र सरकार की तरफ से पेश अतिरिक्त सालिसिटर जनरल संजय जैन ने यह कहते हुए याचिका का विरोध किया था कि सरकार ने पहले ही कुछ छूट दे दी है लेकिन कुछ शर्तें जरूरी हैं ताकि कोई उसका दुरूपयोग नहीं करे।
आरबीआई ने उठाए ये 10 कदम

बुधवार शाम से बैंकों में कैश सप्लाई बढ़ाई जाएगी ताकि लोगों को सैलरी निकालने में दिक्कत न हो।
आरबीआई 7 दिसंबर तक बैंकों में कैश सप्लाई को तेज रखेगा ताकि सैलरी आने के बाद पैसे निकालने में लोगों को दिक्कत न हो।

बैंकों की जिन ब्रांचों में सैलरी और पेंशन अकाउंट हैं वहां 20 से 30 फीसदी तक ज्यादा पैसा सप्लाई किया जाएगा।
जहां लोगों के सैलरी और पेंशन अकाउंट हैं वहां बैंककर्मियों की कमी न हो इसके लिए भी खास तैयारी की जा रही है।

जिन कर्मचारियों के पास बैंक अकाउंट नहीं हैं उनके नए खाते खोलने के लिए विशेष कैंप लगाए जा रहे हैं।
सैलरी देने के वक्त बैंकों में कैश सप्लाई की दिक्कत न हो इसके लिए खास तौर पर ध्यान दिया जाए।
500 के नए नोटों की छपाई तेजी से जारी है वहीं 2000 के नोटों की छपाई भी होगी।

कैश सप्लाई की रफ्तार 7 दिसंबर तक तेज रखी जाएगी ताकि बैंकों के सामने पैसे की दिक्कत न हो और लोग अपनी सैलरी के पैसे आसानी से निकाल सकें।

500 के नए नोटों की सप्लाई बुधवार शाम से बढ़ाई जाएगी ताकि कैश के साथ साथ खुले का संकट भी दूर किया जा सके।
वित्त मंत्रालय के अनुसार सैलरी डे को ध्यान में रखते हुए पिछले दो दिनों से कैश सप्लाई तेज करने पर काम जारी है।

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.