महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में...

Samachar Jagat | Sunday, 14 Apr 2019 05:00:32 PM
This woman, who played a key role in the war of Mahabharata, was born from Hawankund

धर्म डेस्क। कौरवों ने पांडवों की पत्नी द्रोपदी का अपमान किया और इसी का बदला लेने के लिए कौरव-पांडवों के बीच युद्ध हुआ, जिसे महाभारत का युद्ध कहा जाता है। अगर कौरव भरी सभा में द्रोपदी का अपमान न करते और पांडवों से उनका अधिकार न छीनते तो शायद ये युद्ध न होता। इसी वजह से कहा जाता है कि महाभारत के युद्ध में द्रोपदी की अहम भूमिका थी। महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली पांच पांडवों की पत्नी द्रोपदी के जन्म से जुड़ी हुई कथा बहुत ही रोचक है, आइए जानते हैं इसके बारे में ...........

पौराणिक कथाओं के अनुसार, राजा द्रुपद ने एक वीर पुत्र की प्राप्ति के लिए यज्ञ कराने का निर्णय लिया और इसके लिए वे कई ऋषियों के पास गए, लेकिन सभी ने ऐसा यज्ञ करने से मना कर दिया। जब परेशान होकर राजा द्रुपद महात्मा याज के पास पहुंचे और उनसे यज्ञ कराने का निवेदन किया तो उन्होंने द्रुपद का ये निवेदन स्वीकार कर लिया और यज्ञ प्रक्रिया प्रारंभ की। 

कहा जाता है कि जब महात्मा याज ने राजा द्रुपद का यज्ञ करवाया तो यज्ञ के अग्निकुण्ड में से एक दिव्य कुमार प्रकट हुआ। इसके बाद उस अग्निकुंड में से एक अत्यंत ही सुंदर दिव्य कन्या भी प्रकट हुई। ब्राह्मणों ने यज्ञ से उत्पन्न उन दोनों बालकों का नामकरण संस्कार किया और बालक का नाम धृष्टद्युम्न रखा गया। वहीं कृष्ण वर्ण की होने के कारण बालिका का नाम कृष्णा रखा गया, जब कृष्णा बड़ी हुई तो राजा द्रुपद की पुत्री होने के कारण इन्हें द्रोपदी कहा जाने लगा और ये इसी नाम से विख्यात हुई।

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है । )

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.