हिंदू धर्म में क्यों किया जाता है तांबे के बर्तनों का प्रयोग

Samachar Jagat | Tuesday, 10 Jan 2017 05:20:02 PM
हिंदू धर्म में क्यों किया जाता है तांबे के बर्तनों का प्रयोग

हिंदू धर्म में तांबे के बर्तन को बहुत महत्व दिया जाता है, अधिकतर मंदिरों में तांबे के बर्तन रखे जाते हैं। क्या आप जानते हैं हिंदू धर्म में तांबे का प्रयोग क्यों किया जाता है। आइए आपको बताते हैं इसके बारे में.....

इस ताले के खुलते ही चमक उठेगी आपकी किस्मत

तांबे के बर्तन को शुद्ध माना जाता है, इसे किसी धातु से मिलाकर नहीं बनाया जाता हैं। आयुर्वेद के अनुसार तांबे के बर्तन में पानी रखने से पानी शुद्ध हो जाता है, साथ ही इसमें पानी रखने से पानी के सारे कीटाणु खत्म हो जाते हैं।

कब हुई ज्योतिषशास्त्र की उत्पत्ति, कौन है दैवज्ञ

पूजा करते समय तांबे के पात्र में जल भरकर इसमें तुलसी के पत्ते डाले जाते हैं और पूजा के बाद इस जल को प्रसाद के रूप में वितरित किया जाता है। आपको बता दें कि जल में तांबे और तुलसी का समावेश होने से ये जल औषधी बन जाता है। ये जल एंटीबाइटिक का काम करते हुए व्यक्ति को कई बीमारियों से बचाता है। इसका सेवन करने से आपको फेफड़े संबंधी समस्या से निजात मिल जाती है।

(ये सभी जानकारियां शास्त्रों और ग्रंथों में वर्णित हैं, लेकिन इन्हें अपनाने से पहले किसी विशेष पंडित या ज्योतिषी की सलाह अवश्य ले लें।)

(Source - Google)

इन ख़बरों पर भी डालें एक नजर :-

घर की इन जगहों पर नहीं लटकाना चाहिए कैलेंडर

जानिए क्यों नमक को कपड़े में बांधकर लटकाया जाता है दरवाजे पर

संतान के लिए कष्टकारी होता है इस दिशा का वास्तुदोष

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.