Amavasya Upay: पितरों की शांति के लिए आषाढ़ अमावस्या पर कर लें ये उपाय, पितृदोष से मिलेगी मुक्ति

Samachar Jagat | Saturday, 29 Jun 2024 02:54:10 PM
Amavasya Upay: Do these remedies on Ashadh Amavasya for the peace of ancestors, you will get relief from Pitradosha

pc: samacharnama

हिंदू धर्म में अमावस्या और पूर्णिमा की तिथियों को बहुत खास माना जाता है, जो हर महीने में एक बार आती हैं। अभी आषाढ़ का महीना चल रहा है और इस महीने की अमावस्या को आषाढ़ अमावस्या के नाम से जाना जाता है, जिसका बहुत महत्व है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान, दान, अनुष्ठान और पूजा-पाठ करते हैं। इसके अलावा अमावस्या के दिन तर्पण (पूर्वजों को जल चढ़ाना), श्राद्ध (मृतकों के लिए अनुष्ठान) और पिंडदान (पूर्वजों को भोजन अर्पित करना) करना बहुत लाभकारी माना जाता है।

ऐसा माना जाता है कि इस दौरान पूर्वजों के लिए श्राद्ध, तर्पण और पिंडदान करने से दिवंगत आत्माओं का आशीर्वाद उनके वंशजों को मिलता है। इस साल आषाढ़ अमावस्या 5 जुलाई को मनाई जाएगी। यहां हम कुछ ज्योतिषीय उपाय बता रहे हैं जो पूर्वजों की आत्मा को शांति प्रदान कर सकते हैं और पितृ दोष को दूर करने में मदद कर सकते हैं। आइए जानें इन उपायों के बारे में।

पितृ दोष से मुक्ति के उपाय

सुबह गंगा स्नान:

पितृ दोष के प्रभाव को कम करने के लिए आषाढ़ अमावस्या की सुबह गंगा नदी में स्नान करें।
नदी पर किसी पुजारी की मदद से पितरों के लिए तर्पण करें।
इसके बाद कपड़े, अनाज और पैसे दान करें। यह क्रिया पितृ दोष से मुक्ति दिलाने में मदद करती है और पितरों की आत्मा को संतुष्टि प्रदान करती है।

पितरों के लिए दीपक जलाना:

आषाढ़ अमावस्या के दिन शाम के समय अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिए पीपल के पेड़ के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करें। यह अनुष्ठान दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करता है और परिवार में सुख-शांति लाता है।

भाग्य के लिए चींटियों को खिलाना:

अमावस्या के दिन अपने भाग्य को जगाने के लिए आटे में चीनी मिलाकर काली चींटियों को खिलाएं।
यह क्रिया सुप्त भाग्य को जगाने, जीवन में बाधाओं और कठिनाइयों को दूर करने में मदद करती है। इसे निरंतर लाभ के लिए नियमित रूप से भी किया जा सकता है।
आषाढ़ अमावस्या पर इन उपायों का पालन करके, व्यक्ति अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति सुनिश्चित कर सकता है और अपने जीवन में सद्भाव और समृद्धि ला सकता है।

अपडेट खबरों के लिए हमारा वॉट्सएप चैनल फोलो करें



 


Copyright @ 2024 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.