काशी विश्वनाथ कॉरिडोरः PM मोदी के दौरे से पहले मस्जिद को 'गेरुआ' रंगा गया, कमेटी ने बताया तानाशाही

Samachar Jagat | Tuesday, 07 Dec 2021 03:34:15 PM
Kashi Vishwanath Corridor: Rangi Masjid in 'Gerua' colour ahead of PM Modi's visit, macha organically

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करने वाले हैं. यहां तैयारियां जोरों पर हैं. इस दौरान विश्वनाथ मंदिर की ओर जाने वाली सड़क को गेरू रंग से रंगा जा रहा है और इस वजह से एक मस्जिद को भी गेरुआ रंग दिया गया है। इसको लेकर अब मुस्लिम समुदाय में नाराजगी है। आप सभी को बता दें कि मुस्लिम समुदाय ने वाराणसी विकास प्राधिकरण पर तानाशाही का आरोप लगाया है. एक ओर जहां वाराणसी विकास प्राधिकरण एकरूपता लाने का दावा करता है, वहीं लोगों का आरोप है कि इमारतों को बिना पूछे रंगा जा रहा है.

आपको बता दें कि बुलानाला इलाके में सड़क किनारे एक बेहद पुरानी मस्जिद है जिसे बुलानाला मस्जिद के नाम से भी जाना जाता है. पहले यह सफेद रंग का होता था। हालांकि, अब यह आरोप लगाया जा रहा है कि प्राधिकरण ने रात भर सफेद पर हल्के गेरू रंग से रंग दिया। इससे मस्जिद से जुड़े लोगों में नाराजगी है और वे इसे मनमाना और तानाशाही बता रहे हैं. आप सभी को बता दें कि हाल ही में मस्जिद की देखरेख करने वाली अंजुमन संजारियान मस्जिद कमेटी के मोहम्मद एजाज इस्लाही ने कहा, ''रातों-रात उसकी मस्जिद का रंग बदल दिया गया. अगर कुछ करना भी होता तो एक बार पहले भी बात कर लेनी चाहिए थी. आगे कहा, "यह मनमाना और तानाशाही है। पहले उनकी मस्जिद सफेद हुआ करती थी जो अब भगवा रंग की हो गई है। '


 
साथ ही उन्होंने कहा कि उन्होंने आपत्ति भी दर्ज करायी है और डीएम से मिलने की कोशिश की लेकिन बैठक नहीं हुई. वहीं काशी विश्वनाथ मंदिर कार्यालय ने भी रंग गलत होने पर आपत्ति जताई। दरअसल, उन्होंने कहा कि हम इसे पहले की तरह और सफेद करेंगे और पूरा खर्चा उनकी कमेटी वहन करेगी. इससे होने वाले नुकसान की भरपाई खुद ही करनी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस करस्तानी को लेकर उनमें काफी नाराजगी है, लेकिन माहौल कुछ ऐसा है जिसे कहा नहीं जा सकता. पीएम मोदी कॉरिडोर का उद्घाटन करने जा रहे हैं और यह संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि सभी लोग उनके साथ हैं लेकिन ऐसा नहीं है.



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.