देश के सबसे स्वच्छ शहरों में शुमार एमपी के इंदौर शहर में कुपोषण का ग्राफ बढ़ा, कुपोषित बच्चों की संख्या 1 हजार से ज्यादा हुई, 1115 बच्चे पाए गए कुपोषित

Samachar Jagat | Tuesday, 14 Sep 2021 11:54:08 PM
The graph of malnutrition increased in Indore city of MP, one of the cleanest cities of the country, the number of malnourished children exceeded 1 thousand, 1115 children were found malnourished

इंटरनेट डेस्क। मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर और मिनी मुंबई के नाम से पहचाने वाले इंदौर में कुपोषणा का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। इंदौर जैसे बडे़ शहर में कुपोषित बच्चों का आंकड़ा 1,000 के पार पहुंचा गया है। राज्य के सबसे विकसित शहर से कुपोषणा के ये मामले चौंकाने वाले हैं। कुपोषण के इतनी तादाद में मामले सामने आने के बाद राज्य सरकार भी हरकत में आ गई है।

मध्य प्रदेश: इंदौर में कुपोषित बच्चों का आंकड़ा 1,000 के पार पहुंचा।

इंदौर के ज़िलाधिकारी मनीष सिंह ने बताया, "यहां 1,115 कुपोषित बच्चे हैं। हम तीन महीने में बच्चों को इस श्रेणी के बाहर ले आएंगे।" pic.twitter.com/rlU8IiFJBG — ANI_HindiNews (@AHindinews) September 14, 2021

एएन्आई न्यूज एजेंसी के अऩुसार, कुपोषण मामले में मीडिया से बातचीत में इंदौर के ज़िलाधिकारी मनीष सिंह ने बताया कि यहां 1,115 कुपोषित बच्चे हैं। हम तीन महीने में बच्चों को इस श्रेणी के बाहर ले आएंगे। राज्य सरकार की ओर से कुपोषित बच्चों के इलाज और उनके संपूर्ण आहार का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। 

गौरतलब है कि इंदौर देश के सबसे स्वच्छ शहरों में शुमार किया जाता है। वहीं कुपोषण के मामले यहां बहुत कम दिखते थे लेकिन अब इंदौर से कुपोषण के बड़ी तादाद में आ रहे मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। 

 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.