यदि पर्याप्त मांग हो तो भारत में इलेक्ट्रिक वाहन ला सकते हैं : होंडा

Samachar Jagat | Sunday, 16 Sep 2018 11:58:31 AM
If there is enough demand then we can bring electric vehicles in India: Honda

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। जापान की वाहन कंपनी होंडा ने कहा है कि वह भारतीय बाजार में काफी जल्दी इलेक्ट्रिक वाहन ला सकती है। कंपनी ने कहा है कि यदि बाजार की पर्याप्त मांग हो जिससे हम टिक सकें तो हम इलेक्ट्रिक वाहन पेश कर सकते हैं। भविष्य के वाहनों के लिए कई तरह की प्रौद्योगिकियों पर विचार करने की जरूरत है।  कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

सार्वजनिक क्षेत्र की दो कंपनियों के आईपीओ इसी महीने, 815 करोड़ रुपये जुटेंगे 

होंडा भारत में पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के जरिये मौजूद है। वह यहां आठ मॉडल बेचती है। कंपनी भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) लाने की रणनीति पर काम कर रही हैं। होंडा कार्स इंडिया लि.(एचसीआईएल) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं निदेशक (बिक्री एवं विपणन) राजेश गोयल ने पीटीआई भाषा से कहा, ''जहां तक इलेक्ट्रिक वाहन का सवाल है, कुछ वजह से ऐसा लगता है कि हम इस प्रौद्योगिकी का समर्थन नहीं करते हैं। यह सही नहीं है। हमारे पास ईवी प्रौद्योगिकी है और हम इसे यहां काफी जल्दी ला सकते है।’’ 

Ilfs के बचाव में आगे आया जीवन बीमा निगम, बोर्ड ने पुनरूत्थान योजना को दी मंजूरी 

उन्होंने कहा कि कंपनी ईवी रणनीति पर काम कर रही है और यह समय पर तैयार हो जाएगी। हम जब बाजार की मांग होगी यहां ईवी ला सकेंगे।  गोयल ने कहा कि भारत जैसे देश में हम कई तरह की प्रौद्योगिकियों पर ध्यान दे सकते हैं। इनमें हाइब्रिड भी है। इससे हम उत्सर्जन घटा सकते हैं तथा वायु प्रदूषण में कमी ला सकते हैं। 

गोयल ने कहा, ''पूर्ण रूप से इलेक्ट्रिक वाहन पर कदम बढ़ाने के लिए हम सिर्फ यह कहना चाहते हैं कि हमें कई प्रौद्योगिकियों पर ध्यान देना चाहिए।’’  उन्होंने कहा कि ईवी प्रौद्योगिकी कंपनी के लिये कोई मुद्दा नहीं है क्योंकि वह इस प्रकार के वाहनों को दुनिया भर में पहले से बेच रही है। उल्लेखनीय है कि तेल आयात तथा प्रदूषण में कमी लाने के मकसद से सरकार जैव-ईंधन, एथनॉल और मेथनॉल ईंधन के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रही है। 
 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.