गिरते रुपये, बढ़ते चालू खाता घाटे को काबू में रखने के लिये गैर-जरूरी आयात पर लगेगी पाबंदी

Samachar Jagat | Saturday, 15 Sep 2018 09:26:13 AM
Falling rupees, in order to control growing current account deficit, will be imposed on non-essential imports

नई दिल्ली। सरकार ने मसाला बांडों पर से विदहोल्डिंग टैक्स हटाने, विदेश संस्थागत निवेश के लिए ढील देने और गैर-जरूरी आयातों पर पाबंदी लगाने का शुक्रवार को निर्णय किया। रुपए में गिरावट और बढ़ते चालू खाते के घाटे पर अंकुश लगाने के इरादे से यह कदम उठाया गया है।

Bigg Boss सीजन 12 के लिए सलमान खान लेने जा रहे है इतने करोड़ रुपए

अर्थव्यवस्था की सेहत की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल और वित्त मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने अर्थव्यवस्था की स्थिति की जानकारी दी।

वित्त मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि इन उपायों से 8-10 अरब डॉलर तक का सकारात्मक असर पड़ने की संभावना है। बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार ने चालू खाते के घाटे (कैड) पर अंकुश लगाने के लिए 5 कदमों पर निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही सरकार ने निर्यात को प्रोत्साहित करने तथा गैर-जरूरी आयात पर अंकुश लगाने का भी फैसला किया है। हालांकि, जेटली ने यह नहीं बताया कि किन जिसों के आयात पर पाबंदी लगायी जाएगी। उन्होंने कहा कि बढ़ते कैड के मामले के समाधान के लिए सरकार जरूरी कदम उठाएगी।

इसके तहत गैर-जरूरी आयात में कटौती और  निर्यात बढ़ाने के उपाय किए जाएंगे। जिन जिसों के आयात पर अंकुश लगाया जाएगा, उसके बारे में निर्णय संबंधित मंत्रालयों से विचार-विमर्श के बाद किया जाएगा। वे डब्ल्यूटीओ (विश्व व्यापार संगठन) के नियमों के अनुरूप होगा।

कम से कम चीजों का इस्तेमाल और प्रकृति के करीब रहना पसंद है: हर्षवर्धन राणे

जेटली के अनुसार कल प्रधानमंत्री के साथ बैठक में और मुद्दों पर चर्चा होगी। अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया 12 सितंबर को रिकार्ड 72.91 तक नीचे गिर गया था। यह आज 71.84 पर बंद हुआ। घरेलू मुद्रा अगस्त से लेकर अब तक करीब 6 प्रतिशत टूटी है। पेट्रोल और डीजल के दाम भी रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.