क्या आपने भी आईआरसीटीसी में किया है ? 

Samachar Jagat | Saturday, 05 Oct 2019 10:04:12 AM
Have you also been to IRCTC?

इंटरनेट डेस्क। इंडियन रेलवे कैटरिंग ऐंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन बहुत जल्द भारतीय शेयर बाजार में लिस्टेड होने वाली है। इससे पहले आईआरसीटीसी के इनिशल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) की खूब चर्चा हो रही है। आम लोगों के लिए 30 सितंबर से 3 अक्टूबर तक के लिए आईपीओ लॉन्च किया था। इस आईपीओ को लोगों ने हाथों-हाथ लिया है। यह संभव है कि आपने भी इसमें अपना निवेश किया हो। अगर आपने भी आईआरसीटीसी के आईपीओ में निवेश किया है तो आपकी मोटी रकम फ्रीज हो चुकी है। मतलब यह कि इस रकम का आप अब इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।


loading...

दिवाली पर आरबीआई ने रेपो रेट में की कमी, ईएमआई में होगी कमी

आंकड़े बताते हैं कि आईआरसीटीसी के बिक्री के लिए रखे गए 2 करोड़ शेयर के एवज में 225 करोड़ शेयर के लिए बोलियां प्राप्त हुईं। आसान भाषा में समझें तो हर 1 शेयर के बदले 112 खरीददार हैं। अब इस शेयर का 9 या 10 अक्टूबर को आवंटन होने की उम्मीद है। यह आवंटन लकी ड्रॉ की तरह होता है। आवंटन के बाद बड़ी संख्या में लोग आईपीओ से वंचित रह जाएंगे। ऐसे में सवाल है कि जो लोग चूक जाएंगे उनकी मोटी रकम का क्या होगा। आपको आईआरसीटीसी के आईपीओ में कोई हिस्सेदारी नहीं मिली तो आपका रिफंड आ जाएगा। यह रिफंड आईपीओ के आवंटन के बाद ही आता है। यह रिफंड 24 से 48 घंटे के भीतर आ जाता है लेकिन आईआरसीटीसी के मामले में रिफंड 14 अक्टूबर तक आए। आईआरसीटीसी के 14 अक्टूबर को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में लिस्ट होने की उम्मीद है। अगर आपको आईआरसीटीसी के आईपीओ में सफलता नहीं मिली तो आपका फ्रीज अमाउंट एक बार फिर एक्टिव मोड में आ जाएगा। यानी उस रकम को आप खर्च कर सकेंगे। 

रुपये के कमजोर होने से सोने में आई तेजी 


आम लोगों के लिए आईपीओ खुला - 30 सितंबर 2019
आईपीओ का आखिरी दिन - 3 अक्टूबर 2019
आईपीओ आवंटन की तिथि - 9-10 अक्टूबर 2019
आईपीओ का प्राइस बैंड - 315- 320 रुपये
आईपीओ के लिए शेयर - 2,01,60,000
कम से कम आवेदन - 1 लॉट यानी 40 शेयर
अधिक से अधिक आवेदन - 15 लॉट यानी 600 शेयर
आईपीओ से 645 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य
आईपीओ प्रबंधन- यस सिक्यॉरिटीज (इंडिया), एसबीआई कैपिटल मार्केट्स और आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स ऐंड सिक्यॉरिटीज
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.