वर्ष 2025 तक भारत मधुमेह की राजधानी बन जायेगा-शर्मा

Samachar Jagat | Friday, 01 Mar 2019 09:28:39 AM
India will become the capital of diabetes by 2025- Sharma

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर।  विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक सर्वेक्षण के अनुसार भारत में करीब सात करोड़ मधुमेह के रोगी हैं और वर्ष 2025 तक यह मधुमेह की राजधानी बन जायेगा। 


राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने आज जेईसीसी में मधुमेह विषय पर आयोजित चार दिवसीय ‘नौवी वल्र्ड कांग्रेस डायबिटीज इंडिया 2019’ सम्मेलन में सम्बोधित करते हुए कहा कि आधुनिक जीवन शैली की वजह उत्पन्न बीमारियों में मधुमेह सर्वाधिक प्रचलित रोगों में से एक है। इसका मुख्य कारण जीवन शैली में बदलाव, अधिक मसालेदार भोजन, कम व्यायाम, बढ़ता तनाव, जेनेटिक और पर्यावरणीय खतरे माने जाते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ वर्ष पहले हमने कई बीमारियों को पूरी तरह से तरह खत्म कर दिया है। अब डायबिटीज के लिए भी इसी प्रकार के प्रयासों की जरूरत है।

शर्मा ने कहा कि मधुमेह कई बीमारियों की जननी मानी जाती है। शुरुआत में ही जांच करके इसका निदान और उचित इलाज ही एकमात्र रास्ता है। उन्होंने बताया कि जनघोषणा पत्र में प्रदेशवासियों को स्वास्थ्य का अधिकार देने का संकल्प लिया गया है। इस संकल्प को पूरा करने के लिए संकल्पबद्ध होकर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में नि:शुल्क दवा एवं जांच योजना को प्रभावी ढंग से लागू कर आम जन को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है।

सम्मेलन में प्रमुख शासन सचिव (चिकित्सा शिक्षा) हेमन्त गेरा ने कहा कि मधुमेह की समस्या अब शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी बदलती जीवन शैली के कारण बढ़ रही है। मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी की चुनौती का सामना करने के लिए इस संबंध में व्यापक जनचेतना है। 

आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि इस सम्मेलन में देशभर से करीब दो हजार चिकित्सकों को मधुमेह से जुड़े कई विषयों पर प्रशिक्षित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में देशभर से एक सौ से अधिक प्रशिक्षकों के अलावा विदेशों से भी 40 प्रशिक्षक आए हैं। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.