शहीदों के परिजनों को मिलेगी सरकारी नौकरीः वसुंधरा

Samachar Jagat | Sunday, 02 Sep 2018 10:34:56 AM
Khalsa's family will get government jobs: Vasundhara

बाड़मेर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि राज्य सरकार ने वर्ष 1947 के बाद देश के लिए शहीद हुए लोगों के परिजनों में कम से कम एक को सरकारी नौकरी देने का निर्णय लिया है। राजे बाड़मेर और शिव विधानसभा क्षेत्रों के लिए लगभग 91 करोड़ रुपये की लागत के विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह में बोल रही थीं। 

एकाउन्ट हैक कर ऑनलाइन बिल भुगतान करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, पांच गिरफ्तार 

उन्होंने कहा कि बाड़मेर ऐसा क्षेत्र है, जहां पग-पग पर शहीदों के परिवार रहते हैं। इस भूमि पर आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने देश पर अपनी जान न्यौछावर करने वाले शहीदों के सम्मान में 15 अगस्त को आयोजित मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए बाड़मेर, गंगानगर, बीकानेर और जैसलमेर की जनता का आभार व्यक्त किया।  उन्होंने बाड़मेर में शहरी क्षेत्र की सीमा के विस्तार की घोषणा की। 

शाहजहापुर में बिजली और दरवाजे का स्लैब गिरने से पांच बच्चों समेत सात लोगों की मृत्यु 

उन्होंने कहा कि बाड़मेर शहर के आसपास के 11 गांव भी अब शहरी क्षेत्र में शामिल हो जाएंगे। स्थानीय लोगों की मांग पर सरकार ने यह निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हमेशा आम जनता से पूछकर उनके विकास की योजनाएं तैयार करती है और फिर उन्हें जमीन पर लाने के लिए मेहनत करती है।

सड़कों की तारीफ से तकलीफ हो, तो विरोधी मप्र से बाहर निकल जाएं: लोक निर्माण मंत्री 

राजे ने कहा कि बाड़मेर में बीते चार वर्षों में 1500 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्य कराए गए हैं। उन्होंने कहा कि बाड़मेर विधानसभा क्षेत्र की 51 पंचायत मुख्यालयों में से 40 में उच्च माध्यमिक विद्यालय स्थापित हो गए हैं तथा 40 ग्राम पंचायतों में ही ग्रामीण गौरव पथ बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि बाड़मेर में रिफाइनरी के निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। सरकार ने इसके लिए जमीन, पर्यावरणीय स्वीकृति या वित्तीय संसाधनों की अनुपलब्धता जैसी कोई कमी नहीं छोड़ी है। राजे ने 29 दिव्यांगों को मोटराइज्ड ट्राई साइकिल तथा 10 छात्राओं को साइकिल वितरित की।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.