150 किलोमीटर का सफर तय कर रणथंभौर से निकला बाघ टी-98 पहुंचा मुकुंदरा

Samachar Jagat | Monday, 11 Feb 2019 02:48:19 PM
Tiger T-98 reached in Mukundra Hills Tiger Reserve
  • वन विभाग के कैमरों में नजर आया बाघ

जयपुर। रणथम्भौर का एक बाघ टी-98 कोटा के मुकुंदरा टाइगर हिल्स के दर्रा एरिया में पहुंच गया है। जानकारी के अनुसार कुछ दिन पहले टी-98 बाघ रणथम्भौर से निकलकर सुल्तानपुर (कोटा) के जंगलों में घूमता देखा गया था। इसके बाद यह बाघ कालीभसध नदी होता हुआ मुकुंदरा टाइगर हिल्स के दर्रा क्षेत्र में पहुंच गया है। बताया जा रहा है कि बाघ करीब 150 किलोमीटर का सफर तय कर यहां पहुंचा है। जहां कैमरे में इसकी फोटो देखी गई है।

बताया जा रहा है कि यहां पहले से रह रहे दो टाइगर के बाहर के एरिया में बाघ के पंजे के निशान मिले हैं। वहां वन विभाग ने ट्रैप कैमरे लगाए जिसमें बाघ की फोटो आई। फोटो में उस बाघ की पहचान रणथम्भौर के टी -98 के रूप में की गई। उल्लेखनीय है कि बाघ टी- 98 रणथंभोर की बाघिन टी-60 का बच्चा है।

सेवानिवृत्त डीएफओ दौलत सिंह शक्तावत ने बताया कि इस बाघ को रेलवे ट्रेक और नेशनल हाइवे का खतरा है। इसकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अभी इसे सेल्जर वन में बने छोटे बाड़े में रखा जा सकता है। यदि परिस्थितियां अनुकूल रहती हैं तो इसे उसी जंगल में छोड़ा जा सकता है। यहां प्रेबेस भी बहुत अच्छा है।

ज्ञात रहे कि इससे पहले 2003 में भी एक टाइगर ब्रोकन टेल रणथंभोर से निकल कर इसी जंगल में आ गया था। जहां ट्रैन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई थी।

मुकुंदरा टाइगर हिल्स, कोटा के सीसीएफ घनश्याम शर्मा इनका कहना है कि दर्रा वन क्षेत्र में लगाए गए कैमरों में दिखा बाघ टी-98 है। अब इस बाघ की सुरक्षा के लिए वन विभाग की टीम नजर बनाए हुए है। इसके लिए टीम जुटी हुई है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.