हे..बदरा अब तो बरस जाओ? मानसून की बेरुखी से किसानों की बढ़ी चिंता, पसीने से तरबतर हुआ इंसान  

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 01:36:11 PM
Wait for monsoon in Rajasthan

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। हर इंसान का गर्मी से हाल-बेहाल है, जुलाई माह का पहला सप्ताह बीत चुका है, लेकिन मानसून की आस लगाएं बैठे लोगों को ओर इंतजार करना पड़ सकता है? आखिर कब मानसून राजा मेहरबान होंगे ये तो वो ही जानते है।

प्री-मानसून की बारिश से आम लोगों के दिलों को तहसली मिली थी, लेकिन फिर सूर्य देव की गर्मी के आगे वो फिर से पानी-पानी  हो गई। गर्मी से हाल बेहाल हो रहा है, पसीने से आम इंसान तरबतर नजर आ रहा है। सुबह से ही सूर्य देव की तपिश के आगे आम इंसान परेशान नजर आ रहा है।  

झमाझम का इंतजार
आखिर कब बदरा झमाझम बरसेंगे, बस यही सवाल हर इंसान के दिमाग में हलचल मचा रहा है। राजस्थान में मानसूनी बादलों की बेरूखी से गर्मी ओर बढ़ गई है। दिन में पारा सामान्य से दो से 5 डिग्री तक बढ़ गया है। जिससे भीषण गर्मी का दौर प्रदेश के अधिकांश जिलों में बना हुआ है।

लगातार चल रही पश्चिमी हवाओं से बीती राज से बालों की आवाजाही भी थम गई है। वहीं दूसरी तरफ मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में पूर्वी राजस्थान के कई इलाकों में झमाझम बारिश होने की आशंका जताई है।

मानसून की बेरुखी से किसानों की बढ़ी चिंता
मानसून की बेरुखी से किसानों की मुसीबतें कम नहीं हो पा रही हैं। खरीफ सीजन में अच्छे मानसून की उम्मीद जताई जा रही थी, लेकिन इस बार मानसून ने फिर से गच्चा दे दिया है। जिन किसानों ने प्री मानसून की बारिश में उड़द, मूंग और मक्का की खेतों में बुवाई कर दी है, उन्हें अब बारिश न होने से फसलों को बचाना मुश्किल हो रहा है। किसानों द्वारा खेतों में डाले गए बीज अंकुरित तो हुए, लेकिन मिट्टी में नमी न होने की वजह से वह बाहर नहीं निकल पाए।

वहीं प्री-मानसून की बरसात ने जहां किसानों का आम इंसानों का दिल खुश कर दिया था। वहीं अब मानसून की आस लगाए बैठे किसानों के चेहरे पर मायूसी दिखाई दे रही है। आखिर कब तक मानसून की आवाजाही होगी। इस बात से किसान परेशान है। अभी वैसे फसलों की बुआई का समय है, अगर ऐसे वक्त में बदरा सही वक्त पर बरस जाएं तो फसलों की पैदावर सही वक्त पर होगी। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.