पान की दुकान वाला बदलवाना चाह रहा था 73.15 लाख के बंद नोट, सफाई कर्मी समेत धरा गया

Samachar Jagat | Sunday, 05 May 2019 01:58:53 PM
Two people arrest with closed notes of Rs. 73.15 lakh for 500 and 1000 rupees

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंदौर। नोटबंदी के ढाई साल बाद पुलिस ने यहां चौंकाने वाले मामले में 500 और 1,000 रुपए के कुल 73.15 लाख रुपए के विमुद्रीकृत नोटों के साथ दो लोगों को पकड़ा है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शैलेन्द्र सिंह चौहान ने रविवार को बताया कि एमआर-9 रोड के पास वाहनों की तलाशी के दौरान शनिवार रात एक स्कूटर को रोका गया। इस वाहन पर सवार ऋषि रायसिंह (23) और सावन मेवाती (26) के पास एक बैग मिला। इस बैग में 1,000-1,000 रुपए के 4,574 बंद नोट और 500-500 रुपए के 5,482 बंद नोट रखे थे। 

नाकाम भाजपा दे रही मजबूत सरकार और आतंकवाद की दुहाई : अखिलेश

Kannauj police arrested four gangsters of looting and thieves gang

चौहान ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में शामिल ऋषि मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले के शुजालपुर कस्बे में पान की दुकान चलाता है, जबकि मेवाती इंदौर नगर निगम का सफाई कर्मी है। उन्होंने बताया कि बंद मुद्रा ऋषि द्बारा शुजालपुर से इंदौर लाई गई थी। वह मेवाती के साथ इसे 30 प्रतिशत कमीशन के आधार पर फिलहाल चल रही वैध मुद्रा से बदलवाने ले जा रहा था। उस व्यक्ति की तलाश की जा रही है जो यह अदला-बदली करने वाला था। बहरहाल, यह कोई पहला मामला नहीं है, जब यहां बंद नोटों की बड़ी खेप पकड़ी गई हो। पुलिस ने यहां अगस्त 2018 में 500 और 1,000 रुपए के लगभग एक करोड़ रुपए के विमुद्रीकृत नोटों के साथ तीन लोगों को धर दबोचा था।

मोटरसाइकिल के रोडवेज बस की चपेट में आने से एक अध्यापक की मौत

कानून प्रवर्तन एजेंसियां अब तक इस बात का खुलासा नहीं कर सकी हैं कि 500 और 1,000 रुपए के बंद नोटों को नए नोटों से बदलने के गोरखधंधे में कौन लोग शामिल हैं और वे बंद नोटों को किस तरह खपाते हैं? एएसपी ने कहा, हम विस्तृत जांच के जरिए इन सवालों के जवाब खोजने की कोशिश कर रहे हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी। -एजेंसी

मोदी सेना की आड़ में नाकामियां छुपाना चाहते है: सचिन पायलट

महोबा में ट्रक की चपेट में आकर बालक की मृत्यु



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.