ब्लैक को व्हाइट करने का हर फार्मूला अपना रहे है जमाखोर

Samachar Jagat | Wednesday, 16 Nov 2016 04:05:22 PM
ब्लैक को व्हाइट करने का हर फार्मूला अपना रहे है जमाखोर

लखनऊ। विमुद्रीकरण के जरिए कालेधन और भ्रष्टाचार पर नकेल कसने की केन्द्र सरकार की मुहिम को कई दुश्वारियों का भी सामना करना पड रहा है। कालेधन को सफेद करने की जुगत में लगे कई धन्नासेठ मजदूरो से लेकर वेतनभोगी कर्मचारियों का भी इस्तेमाल करने से परहेज नही कर रहे हैं। 

कालेधन के जमाखोरों की हिमाकत को धता बताने के लिए सरकार ने आज से नोटों की अदलाबदली करने वाले ग्राहकों की अंगुली में स्याही लगाने के निर्देश दिए हैं। इसके बावजूद कई सफेदपोश कालेधन को सफेद करने के लिए अनूठे प्रयोग करने से बाज नही आ रहे हैं। 

लखनऊ के एक निजी प्रतिष्ठान के कर्मचारी ने बताया कि सेठ ने कैश की कमी का हवाला देते हुए तीन महीने के अग्रिम वेतन के तौर पर उसे 1000 रूपए की शक्ल में 60 हजार रूपए थमा दिए हैं। इस धनराशि को बैंक खाते में जमा कराने के लिए उसे बाकायदा एक दिन की छुट्टी दी गई है। प्रतिष्ठान में कार्यरत सभी 12 कर्मचारियों को तीन महीने का सेलरी एडवांस नकद दिया गया है। 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.