सूरज को जल चढ़ाते समय ना करें ये गलतियां

Samachar Jagat | Friday, 12 Jan 2018 10:14:40 AM
Do not waste time while burning the sun.

ज्योतिष डेस्क। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि पवित्र मन के साथ सूर्य को जल चढ़ाने से वास्तव में हमारी कई समस्याओं का समाधान हो सकता हैं जिनका हम हमारे दैनिक जीवन में सामना करते हैं। सूर्य को जल चढ़ाने से हमारे जीवन से समस्त तनाव कम हो जाता है। लेकिन सूरज को जल चढ़ाते समय हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान देना चाहिए। 

सूरज को जल चढ़ाने की जगह के चारों चारों ओर अगर कोई डिब्बा रखा है तो इसे वहां से हटा दें। अगर डस्टबिन जैसी वस्तुओँ को इस जगह के आसपास  रखा जाता है, आपके सभी प्रयास व्यर्थ हो सकते हैं। डस्टबिन जैसी वस्तुओं की वजह से इस तरह के स्थान को दिन भर में कई अपशिष्ट और नकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है।  सूरज को जल चढ़ाने के लिए एक अलग बर्तन का उपयोग करें। बाद में, इस बर्तन का उपयोग खाना पकाने या पौधों को पानी देने जैसे किसी अन्य कार्य के लिए न करें।

 

सूरज को जल हमेशा अपने दांये हाथ से ही चढ़ायें। अगर आप अन्य कार्यों के लिए बांये हाथ का प्रयोग करते है तब भी सूरज को जल दांये हाथ से ही चढ़ायें। हिंदू अनुष्ठानों में शुभ कार्यों के लिए बाएं हाथ का उपयोग करना शुभ नहीं माना जाता है। सूर्य को जल चढ़ाने से पहले प्याज और लहसुन का सेवन ना करें। जाहिर है हम सूर्य को जल खाली पेट ही चढ़ाते हैं  लेकिन कुछ लोगों को किन्ही स्वास्थ्य कारणों से लहसुन का सेवन करना है, लेकिन अगर आप सूरज को पानी चढ़ाते है तो आपको इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

सूरज को चढ़ाये गए जल को पोंछे से साफ ना करें। एक बार पानी को छत के फर्श गिरने के बाद इसे प्राकृतिक रूप से सूखने दें। उस हिस्से को पोंछे से साफ ना करें। सूरज को जल चढ़ाते समय इसकी तरफ ना देखें। ऐसा करना सूर्य का अपमान माना जाता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.