15 मार्च से प्रारंभ हो रहा है खरमास, एक माह तक सभी मांगलिक कार्यों पर लगेगा विराम

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Mar 2019 05:31:10 PM
Kharmas starting on March 15  All Manglik works will take a break

धर्म डेस्क। सूर्य प्रत्येक माह राशि परिवर्तन कर दूसरी राशि में विराजमान होता है। 15 मार्च को सूर्य कुंभ राशि को त्यागकर मीन राशि में प्रवेश कर रहा है, ये अंतिम राशि है इसी वजह से मीन राशि में रहने के बाद राशिचक्र पुन: मेष राशि से प्रारंभ होगा। 15 मार्च को सुबह 5 बजकर 42 मिनट पर सूर्य कुंभ राशि को त्यागकर मीन राशि में प्रवेश करेगा और ये एक माह तक मीन राशि में विध्यमान रहेगा। इसके पश्चात जब सूर्य 15 अप्रैल को मेष राशि में प्रवेश करेगा तब शुभ कार्य दोबारा शुरू होंगे। खर या मल मास में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है, वहीं इस मास में दान पुण्य करने के साथ ही भगवान की पूजा-अर्चना करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। 

सभी प्राणियों पर नजर रखते हैं आकाश में बैठे पूषन देवता, जानिए क्यों आया शिवजी को उन पर क्रोध

ऐसे लगता है खरमास :-

हिन्दू पंचांग के अनुसार सूर्य एक राशि में एक महीने तक रहता है और जब सूर्य भ्रमण करते हुए बृहस्पति की राशियों धनु और मीन में प्रवेश करता है तो अगले 30 दिन यानी एक महीने की अवधि को खरमास कहा जाता हैं। इस बार 15 मार्च से खरमास शुरू हो रहा है और ये 14 अप्रैल तक रहेगा।

भारत के इन शिव मंदिरों में दिखता है भोलेनाथ का अनोखा रूप, लोग देखकर रह जाते हैं हैरान

इस वजह से नहीं किया जाता खर मास में शुभ कार्य :-

खर मास में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है जैसे विवाह, मुंडन संस्कार, नए व्यापार की शुरुआत, गृह प्रवेश आदि। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शुभ कार्य के लिए त्रिबल - सूर्य बल, चंद्र बल व गुरु बल की शुद्धि आवश्यक होती है। खरमास में दो की ही शुद्धि प्राप्त होती है इसलिए इस माह में मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं।

(ये सभी जानकारियां शास्त्रों और ग्रंथों में वर्णित हैं, लेकिन इन्हें अपनाने से पहले किसी विशेष पंडित या ज्योतिषी की सलाह अवश्य ले लें।)

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.