प्यार की न जाति होती है न धर्म, ताज बीबी को दर्शन देकर भगवान कृष्ण ने दिया यही संदेश

Samachar Jagat | Thursday, 14 Feb 2019 03:25:50 PM
Love is neither caste nor religion, Lord Krishna gave this message by appearing to Taj Bibi

धर्म डेस्क। हिंदू धर्म में भगवान कृष्ण को प्रेम का देवता मानकर उनकी पूजा की जाती है। अपने प्यार को पाने के लिए प्रेमी राधा-कृष्ण की पूजा करते हैं। राधा और मीरा तो कृष्ण की ​दीवानी थी हीं लेकिन इनके अलावा कृष्ण की एक भक्त ऐसी थी जो हिंदू न होते हुए भी कृष्ण को अपना भगवान मान बैठी थी और उसने कृष्ण के प्रेम में अपनी सुध-बुध खो दी थी।

श्रीमद भगवद गीता के श्लोकों में छिपा हुआ है डायबिटीज का इलाज

आपको ये जानकर आश्चर्य होगा की भगवान कृष्ण की ये प्रेमिका हिंदू नहीं बल्कि एक मुस्लिम थी। ताज बीबी नाम की इस महिला को भगवान कृष्ण से इतना प्रेम था कि उसने कहा था कि मैं मुगलानी हूं, लेकिन हिंदुआनी होना भी पड़े तो कोई बात नहीं, मैं कृष्ण के प्रेम में हिंदुआनी भी हो जाऊंगी। यह छैल-छबीला देवता सब रंग में रंगीला है और मैं उसके बिना जी नहीं सकती।

माना जाता है कि ताज बीबी अकबर के बेटे जहांगीर की पत्नी थी और वह मूलतः हिंदू थी। लेकिन ताजबीबी ने अपने आप को हर जगह मुगलनी कहकर संबोधित किया है। कहते हैं कि एक बार ताज बीबी काबा की यात्रा पर जा रही थीं, लेकिन रास्ते में शंख, घंटे और घड़ियाल की ध्वनियां आईं तो वह मंदिर जा पहुंचीं। पंडितों ने उन्हें मंदिर में प्रवेश से रोक लिया तो वे वहीं बैठकर गाने लगीं। 

इस मंदिर में रात को रूकना है मना, जो रूका वो नहीं देख पाया सुबह का सूरज

माना जाता है कि कृष्ण ने उन्हें वहीं दर्शन दिए और इसके बाद वे हज के लिए आगे बढ़ीं। इससे ये पता चलता है कि ताज बीबी भगवान कृष्ण की कितनी बड़ी भक्त थी। भगवान श्री कृष्ण ने ताज बीबी को दर्शन देकर सभी को ये संदेश दिया कि दुनिया में प्रेम से बढ़कर कुछ नहीं है और भगवान हमेशा भक्त के सच्चे प्रेम से प्रसन्न होकर ही उसे दर्शन देते हैं। 

(ये सभी जानकारियां शास्त्रों और ग्रंथों में वर्णित हैं, लेकिन इन्हें अपनाने से पहले किसी विशेष पंडित या ज्योतिषी की सलाह अवश्य ले लें।)

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.