अमरनाथ गुफा के दर्शन के लिए अभी तक का सबसे छोट जत्था रवाना

Samachar Jagat | Monday, 20 Aug 2018 01:32:40 PM
The smallest group left for Amarnath cave

जम्मू। दक्षिण कश्मीर के हिमालय स्थित अमरनाथ गुफा में हिम शिवलिंग के दर्शन के लिए 43 श्रद्धालुओं का अभी तक का सबसे छोटा जत्था आज यहां से रवाना हो गया। 60 दिवसीय वार्षिक यात्रा अपने अंतिम चरण में पहुंच गई है। अधिकारियों ने बताया कि श्रद्धालुओं के इस 45वें जत्थे में 42 पुरुष और एक महिला है, जो भगवती नगर आधार शिविर से आज सुबह कश्मीर के लिए रवाना हुए। वहां से वे गांदरबल जिले से 12 किलोमीटर वाले बालटाल मार्ग से गुफा की ओर जाएंगे।     

गुफा के लिए रवाना हुआ यह अभी तक का सबसे छोटा जत्था है। हिम शिवलिंग के दर्शन के लिए गांदरबल जिले से दो मार्ग जाते हैं, जिसमें एक 12 किलोमीटर लंबा बालटाल मार्ग है और दूसरा 36 किलोमीटर लंबा पारंपरिक पहलगाम मार्ग है। यह यात्रा 28 जून को शुरू हुई थी। कल 802 श्रद्धालुओं ने पवित्र हिम शिवलिंग के दर्शन किए थे और अभी तक कुल 2,82,376 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर स्थित दशनामी अखाड़े से साधुओं का एक समूह आज भगवान शिव का पवित्र दंड छड़ी मुबारक लेकर पहलगाम की ओर रवाना हुआ और इसके साथ यात्रा अपने अंतिम चरण में पहुंच गई।

Amarnath Yatra: So far 36366 pilgrims performed holy cave

उन्होंने बताया कि पहलगाम, चंदनवाड़ी और शेषनाग में रुकने के बाद 26 अगस्त को पवित्र दंड गुफा पहुंचेगा, जहां वार्षिक यात्रा के समापन से पहले विशेष पूजा अर्चना की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि इस बीच, भगवती नगर आधार शिविर से आज 68० श्रद्धालु पुंछ जिले के पहाड़ी इलाके में बुद्ध अमरनाथ मंदिर गुफा जाने के लिए यहां पहुंचे। यह 10 दिवसीय यात्रा आराम से चल रही है और अभी तक 5000 श्रद्धालु यहां दर्शन कर चुके हैं। -एजेंसी 

भगवान शिव के भी परमप्रिय सेवक हैं धन के देवता कुबेर, प्रसन्न करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

अगर आपके घर में है किसी की शादी तो बिना पंड़ित के पास जाए इस तरीके से निकालें विवाह का मुहूर्त



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.