बेडरूम के वास्तु को सही रखने के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स

Samachar Jagat | Saturday, 14 Apr 2018 09:49:11 AM
To keep the bedroom architecturally clean, follow these architectural tips

धर्म डेस्क। बेडरूम घर की ऐसी जगह होती है जहां पर आकर व्यक्ति आराम करता है और अपने पूरे दिन की थकान को दूर करता है। ऐसे में इस स्थान का वास्तु रहित होना अत्यंत आवश्यक होता है क्योंकि अगर इस स्थान पर वास्तु दोष हो तो व्यक्ति को यहां आकर भी आराम नहीं मिलता और वह चिंता ग्रस्त रहता है। 

जानिए! दूध से जुड़े कुछ शकुन-अपशकुन के बारे में .......

बेडरूम को कैसे वास्तुदोष से मुक्त रखा जाए इसके बारे में वास्तुशास्त्र में कई नियम बताए गए हैं, अगर इन नियमों का पालन किया जाए तो व्यक्ति मानसिक अशांति से छुटकारा पा सकता है। आइए जानते हैं बेडरूम से जुड़े कुछ वास्तु टिप्स के बारे में........

वास्तुशास्त्र के अनुसार, बेड के सामने बड़ा दर्पण नहीं होना चाहिए। अगर जगह की कमी के कारण दर्पण को इस स्थान से हटा पाना संभव न हो तो आप इसे किसी कपड़े से ढंककर रखें। 

धनवान बनने के लिए व्यक्ति की कुंडली में होने चाहिए ये योग

वास्तुशास्त्र के अनुसार बेडरूम में पानी, मछली और देवी-देवताओं के चित्र या मूर्तियां नहीं लगानी चाहिए।

वास्तुदोष से बचने के लिए तकिए के नीचे घड़ी रखकर सोएं। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर की दीवारों पर गुलाबी, नीले, बैंगनी रंग का पेंट करवाना चाहिए।

धन वृद्धि के लिए दीपक जलाते समय करें इन नियमों का पालन

बेडरूम में पलंग पर उलझे हुए डिज़ाइन की चादर नहीं बिछानी चाहिए। वास्तुशास्त्र के अनुसार आपके बेड पर जो चादर बिछी है उसमें गुलाब के अलावा अन्य फूलों की डिजाइन होनी चाहिए। गुलाबी, लाल और बैंगनी रंग की बेडशीट ही उपयोग करें। यह सकारात्मक ऊर्जा प्रेषित करती हैं।

शयन कक्ष में समुद्र की पेंटिंग लगाएं। इन समुद्र की पेंटिंग लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है वहीं घर में समुद्री लुटेरों से संबंधित पेंटिग्स न लगाएं क्योंकि ये नकारात्मक ऊर्जा को निमंत्रण देती है।  

Source-Google

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

जानिए कौन था सहस्त्रार्जुन और क्या था इसका रावण से संबंध



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.