06 जुलाई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 04:19:47 PM
06 july latest top ten news

मामूली बढ़त के साथ बंद हुए Sensex-Nifty

Sensex-Nifty closed with slight gains

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में आज सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को कारोबार की शुरुआत बढ़त के साथ हरे निशान पर हुई है। पूरे दिन के कारोबार के दौरान घरेलू शेयर बाजार बढ़त के साथ ही बंद हुआ। बढ़त के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स बढ़त बनाते हुए 83.31 अंक यानि 0.23 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 35,657.86 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर बढ़त का असर देखने को मिला और ये हरे निशान पर पहुंचकर 22.90 अंक यानि 0.21 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,772.65 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरतलब है कि कल के कारोबार के दौरान घरेलू शेयर बाजार में सुबह कारोबार की शुरुआत मामूली घटत-बढ़त के साथ हुई। जहां कारोबार शुरू होते ही सेंसेक्स में मामूली गिरावट देखने को मिली वहीं निफ्टी में मामूली बढ़त के साथ कारोबार शुरू हुआ। वहीं कारोबार की समाप्ति पर ये घटत-बढ़त का माहौल गिरावट में बदल गया और बाजार लाल निशान पर बंद हुआ। काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 0.87 अंक यानि 0.0024 प्रतिशत की गिरावट के साथ 35,644.53 अंक के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 70.85 अंक यानि 0.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 35,574.55 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 2.90 अंक यानि 0.027 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10772.80 के स्तर पर खुला। सेंसेक्स की तरह निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये लाल निशान पर पहुंचकर 20.15 अंक यानि 0.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,749.75 के स्तर पर बंद हुआ।

अमिताभ बच्चन पर चढ़ा फीफा का फीवर, क्वार्टरफाइनल टीम को लेकर की भविष्य़वाणी

Amitabh Bachchan predicted the quarterfinal team in FIFA

नई दिल्ली। इस समय पूरी दुनिया के ऊपर फीफा का फीवर चढ़ा हुआ हैं। फीफा के फीवर से बॉलीवुड भी अछूता नहीं हैं। फिल्म इंडस्ट्री में शहंशाह कहे जाने वाले दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन सोशल मीडिया पर बेहद एक्टिव रहते हैं। अभिनेता अमिताभ बच्चन  विभिन्न खेलों के शौकीन भी हैं। अभी फिलहाल वे फीफा के रंग में डूबे हुए हैं। फीफा के दुनियाभर में बाकी प्रशंसकों की तरह उनपर भी फीफा विश्वकप का खुमार चढ़ा हुआ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वे इस खेल में ज्योतिषी की भूमिका निभाते नजर आ रहे है। 

जी हां आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन ने हाल ही में ट्विटर पर अपने एक ट्वीट के जरिए ये साबित कर दिया है कि फीफा का फीवर उनपर किस कद्र चढ़ा हुआ हैं। अमिताभ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर विश्वकप के क्वार्टरफाइनल की तिथियों और इसमें पहुंचने वाली टीमों के लिये छह और सात का बेहतरीन संयोजन पेश किया है, जिसके बाद कहना गलत नहीं होगा कि फीफा टूर्नामेंट को लेकर रोजाना हो रहीं भविष्यवाणियों की सूची में अब बॉलीवुड अभिनेता का नाम भी जोड़ा जा सकता है।

बिग बी के नाम से मशहूर अमिताभ ने जो तथ्य पेश किये हैं उसमें लिखा गया है कि क्वार्टरफाइनल में पहुंचने वाली हर टीम वह है जिसके अंग्रेजी वर्णमाला के नाम के अक्षर छह या सात बनते हैं। अंग्रेजी में फ्रांस लिखने पर छह अक्षर बनते हैं तो उरूग्वे के सात। ऐसे ही ब्राजील के छह अक्षर, बेल्जियम के सात, स्वीडन के छह, इंग्लैंड के सात, रूस के छह और क्रोएशिया के सात अक्षर बनते हैं। यह पहला मौका नहीं है जब अमिताभ ने किसी खेल को लेकर इतना उत्साह दिखाया हो। वह इससे पूर्व भी बैडभमटन, क्रिकेट, कबड्डी जैसे खेलों को लेकर अपनी राय और उत्सुकता जाहिर करते रहते हैं।

जयपुर में प्रधानमंत्री मोदी कल करेंगे 2.50 लाख लाभार्थियों से संवाद

Prime Minister Modi will talk to 2.50 lakh beneficiaries tomorrow in Jaipur

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जयपुर में केन्द्र और प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से शनिवार को संवाद करेंगे। मोदी के  शनिवार दोपहर एक बजकर पांच मिनट पर जयपुर पहुंचने का कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री अमरूदों के बाग में केन्द्र और प्रदेश सरकार की 12 विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लगभग 2.50 लाख लाभार्थियों से साथ संवाद कायम करेंगे। सरकार ने प्रदेश के 33 जिलों से लाभार्थियों को जयपुर में प्रधानमंत्री से संवाद करने के स्थान तक लाने के लिए पांच हजार 579 बसों का प्रबंध किया है।

सामान्य प्रशासन विभाग के एक आदेश के अनुसार 33 जिलों से लाभार्थियों को जयपुर लाने के लिए राज्य सरकार 722.53 लाख रुपए खर्च करेगी। आदेश के अनुसार लाभार्थियों को जयपुर लाने वाली बसों को 20 रुपए प्रति किलोमीटर का भुगतान किया जाएगा, और इससे राजकीय कोष पर लगभग 7.2 करोड़ का खर्च होगा। अधिकतर बसें अलवर, उदयपुर और अजमेर से आने की संभावना है। अकेले जयपुर से लाभार्थियों को लाने के लिए 502 बसें चक्कर लगाएंगी। वहीं प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए शहर में कडे सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एनआरके रेड्डी ने बताया कि प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए शहर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। प्रधानमंत्री के सभा स्थल के पास सवाई मान सिंह स्टेडियम में दो हेलीपेड बनाए गए हैं। सभी संवेदनशील इलाकों में भारी सुरक्षा बल तैनात कर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। किसी भी संदिग्ध गतिविधि की सूचना की चेतावनी अस्थायी नियंत्रण कक्ष को दी जा सकेगी। रेड्डी ने कहा है कि हमने आसपास के 18 जिलों के पुलिस अधीक्षकों को बुलाया है, ये सभी अधिकारी पूर्व में जयपुर में तैनात रह चुके हैं और शहर की भौगोलिक स्थितियों से वाकिफ हैं। 

माल्या से वसूली के लिए ब्रिटेन के साथ मिल कर काम कर रहे है भारतीय बैंक

Indian Bank is working closely with UK for recovery from Mallya

नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक के प्रबंध निदेशक (एमडी) अरिजित बसु ने आज कहा है कि शराब कारोबारी विजय माल्या पर बकायों की अधिकतम वसूली के लिए भारतीय बैंक ब्रिटेन की सरकारी एजेंसियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। बता दें कि विजय माल्या भारत से भाग कर ब्रिटेन में रह रहे हैं। वहां की एक अदालत ने वहां उनकी संपत्तियों की जांच करने तथा उन्हें जब्त करने का अधिकार दे दिया है।

बसु ने यहां संवाददाताओं से कहा, ''हम अदालत के आदेश से काफी खुश हैं। हमें उम्मीद है इस तरह के आदेश से हम संपत्तियां को वसूल लेंगे।" बसु ने कोई आंकड़ा दिए बिना कहा है कि , ''हमें उम्मी है कि हमारे बकाए की ठीक - ठाक वसूली हो जाएगी।" माल्या के खिलाफ देश के अंदर वसूली की कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनकी संपत्तियों की नीलामी कर बैंकों के समूह के 963 करोड़ रुपये वसूले जा चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि किंगफिशर एयरलाइंस को 13 बैंकों के समूह ने ऋण दिया था। भारतीय स्टेट बैंक की इसमें सर्वाधिक हिस्सेदारी है। ब्रिटेन के उच्च न्यायालय ने हल में एक आदेश में माल्या से रिण वसूल के लिए भारतीय बैंकों के पक्ष में महत्वपूर्ण ओदश जारी किए। इसके तहत वसूली की कार्रवाई के लिए अधिकारी और एजेंट माल्या के लंदन स्थित ठिकानों में प्रवेश कर सकते और जरूरत पडऩे पर उचित बल प्रयोग भी कर सकते हैं।- एजेंसी

जापान ने सरीन हमले के दोषी नेता और 6 समर्थकों को दी मौत की सजा

Japan condemns Sarin attack and 6 supporters given death sentence

तोक्यो। जापान की राजधानी तोक्यो के सबवे में जानलेवा सरीन गैस हमले के दोषी डूम्सडे पंथ के नेता शोको असहारा और उसके 6 समर्थकों को शुक्रवार को फांसी पर लटका दिया गया। शोको अमु शिनरीक्यिो संप्रदाय से था और 1995 में उसने इस घटना को अंजाम दिया था जिसमें 13 लोग मारे गए थे और हजारों की संख्या में लोग इससे प्रभावित हुए थे।

उसे मौत की सजा सुनाई गई थी। न्याय मंत्रालय के एक अधिकारी ने एएफपी से कहा कि सात अमु सदस्यों को मृत्युदंड दिया गया जिसमें शोको असहारा भी शामिल है। नर्व एजेंट हमला मामले में फांसी की यह पहली सजा दी गई है अभी इस पंथ के छह और सदस्यों को मौत की सजा तामील होनी बाकी है।

1995 में हुए भीषण हमले से प्रभावित लोगों ने दोषियों को फांसी दिए जाने की खबर का स्वागत किया। शोको दृष्टि हीन है और 1980 में उसने डूम्सडे पंथ की स्थापना की। उसकी छवि ऐसे करिश्माई नेता की थी जिससे प्रभावित हो कर शिक्षित लोग यहां तक कि डॉक्टर और वैज्ञानिक तक उसके पंथ में शामिल हो गए थे। हालांकि इस पंथ को लेकर हमेशा से ही देश में शंका थी लेकिन इस हमले के बाद पंथ के मुख्यालय पर कड़ी कार्रवाई हुई और शोको और इसके समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया था। 

त्रिकोणीय टी-20 सीरीज: पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को 45 रन से दी शिकस्त

Tri-T20 Series: Pakistan beat Australia by 45 runs

हरारे। शाहीन अफरीदी के तीन विकेट की बदौलत पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे में चल रही टी- 20 त्रिकोणीय सीरीज के मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया पर 45 रन की शानदार जीत दर्ज की। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाज फखर जमां के करियर के सर्वश्रेष्ठ 73 रन (42 गेंद में नौ चौके और तीन छक्के) की पारी से सात विकेट पर 194 रन का स्कोर बनाया।

वहीं बायें हाथ के तेज गेंदबाज अफरीदी के तीन विकेट की बदौलत आस्ट्रेलिया को सात विकेट पर 149 रन पर रोक दिया जो एक तरह से रविवार को होने वाले फाइनल की ड्रेस रिहर्सल रहा। बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद पाकिस्तान ने हारिस सोहेल का विकेट शून्य पर गंवा दिया लेकिन फखर जमां और हुसैन तलत (30 रन, तीन चौके और एक छक्का) ने 72 रन की भागीदारी निभाकर अच्छा मंच तैयार किया।

फखर जमां ने इस प्रारूप में अपना तीसरा अर्धशतक जमाया और अपने पिछले 61 रन के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को बेहतर किया। उनके पवेलियन लौटने के बाद आसिफ अली ने तीन चौके और दो छक्के से नाबाद 37 रन बनाकर पाकिस्तान को अच्छा स्कोर बनाने में मदद की।

इसके बाद उन्होंने गेंद से भी दबदबा बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया को शुरू में ही झटके दे दिये। अफरीदी ने  ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिच को महज 16 रन पर आउट कर दिया। अफरीदी ने अपनी गेंद से बल्लेबाजों को परेशान किया। उन्होंने ग्लेन मैक्सवेल को पगबाधा आउट किया और फिर डार्सी शार्ट को आउट किया जिससे आस्ट्रेलिया ने 75 रन पर पांच विकेट गंवा दिये। टीम इन झटकों से उबर नहीं सकी।

कश्मीर में अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार

Separate leader Yasin Malik arrested in Kashmir

श्रीनगर। जम्मू- कश्मीर में सुरक्षा और कानून व्यवस्था के मध्यनजर रखते हुए आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी के दो दिन पहले ही पुलिस ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर  लिया है। यह माना जा रहा है कि अलगांववादी नेता आतंकवादी बुरहान वानी की बरसी पर लोगों की भावनाओं को गलत तरीके से भडक़ाकर कश्मीर में दंगे करवा सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार, आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी से दो दिन पहले शुक्रवार को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अलगाववादी नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया गया। अधिकारियों ने हालांकि बताया कि मलिक को एहतियातन हिरासत में लिया गया है। अलगावादियों के एक प्रवक्ता ने यह बताया कि पुलिस ने यासिन मलिक को मैसूमा स्थित उनके आवास से फज्र की नमाज के तुरंत बाद गिरफ्तार कर लिया।

मलिक को मैसूमा पुलिस स्टेशन में रखा गया है। आपको  बताते जाए कि सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज मौलवी, उमर फारूक और यासीन मलिक ने संयुक्त रूप से बुरहान वानी की बरसी पर आठ जुलाई को हड़ताल का आह्वान किया है। इस को ध्यान में रखते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारियों ने सुरक्षा-शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अलगाववादी नेता यासिन मलिक को गिरफ्त में लिया है।

उल्लेख है कि आठ जुलाई, 2016 को भारतीय सेना ने हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी को अनंतनाग जिले में कोकेरनागम इलाके के बुमदूरा गांव में मार गिराया था। इसके बाद घाटी में करीब छह महीने तक हिंसक-प्रदर्शन हुए थे। इसमें लगभग 120 लोग मारे गए थे। अलगाववादी इस घटना का विरोध करके पूरे कश्मीर में आग की तरह फैला कर अपनी राजनीतिक रोटियां ही सेंकी हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री उत्तरी कोरिया पहुंचे, उत्तर कोरिया परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर उत्साहित

US Secretary of State arrives in North Korea,North Korea is excited about nuclear disarmament

प्योंगयांग। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तरी कोरिया के नेता किम जोंग के बीच सिंगापुर में  20 दिन पहले हुई मुलाकात के बाद अमेरिका विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने उत्तरी कोरिया पहुंंचकर परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर चर्चा करने वहां पहुंच गए।अंतरराष्ट्रीय समुदाय की नजरें वहां लगी हुई है कि क्या होगा। इसी बीच अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन पर परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए अधिक विस्तृत प्रतिबद्धता के वास्ते दबाव बनाने के लिए गुरुवार को प्योंगयांग पहुंचे।

मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर कोरिया की राजधानी पहुंचने पर पोम्पिओ का किम के दाएं हाथ माने जाने वाले किम योंग चोल और उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री री योंग हो ने स्वागत किया। पिछले महीने सिंगापुर में हुई ऐतिहासिक शिखर वार्ता में उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से सुरक्षा गारंटी के बदले परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा किया था।

पोम्पिओ की इस यात्रा का मकसद कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण सम्बंधी प्रतिबद्धताओं पर ठोस बातचीत करने का है। अमेरिकी विदेश मंत्री ने अपने साथ यात्रा कर रहे पत्रकारों से पूर्व में कहा था कि हमारे नेताओं ने उत्तर कोरिया के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण पर सिंगापुर शिखर वार्ता में वादे किए।

उन्होंने कहा है कि इस यात्रा पर मैं इन प्रतिबद्धताओं की कुछ जानकारियां चाह रहा हूं और साथ ही मैं चाह रहा हूं कि दोनों नेताओं ने एक-दूसरे और दुनिया से जो वादे किए, उन्हें पूरा करने की गति बरकरार रहे। मैं उम्मीद करता हूं कि उत्तर कोरिया भी यह करने के लिए तैयार है। वरिष्ठ सहायकों के साथ सुबह प्योंगयांग पहुंचे शीर्ष अमेरिकी राजनयिक का पहली बार उत्तर कोरिया की राजधानी में रातभर ठहरने का कार्यक्रम है। पोम्पिओ ने एक ट्वीट में कहा कि वह उत्तर कोरिया के पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण पर काम जारी रखने को लेकर उत्साहित हैं जैसी कि किम ने सहमति जताई थी।

सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हो रही है प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस की रोमांटिक साइकिल राइड तस्वीरें

Priyanka Chopra and Nick Jonas romantic bicycle ride photos are getting enormous viral on social media

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर अपनी तस्वीरों के चलते खबरों में छाई हुई हैं। बता दें कि कुछ समय पहले ही प्रियंका अपने ब्वॉयफ्रेंड निक जोनस के साथ भारत आई थी। कुछ दिन यहां छुट्टियां बिताने के बाद प्रियंका और निक के साथ न्यूयॉर्क रवाना हो गई।

न्यूयॉर्क से प्रियंका निक जोनस के साथ क्वालिटी टाइम स्पैंड कर रही हैं। जिसकी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में प्रियंका चोपड़ा निक जोनस और उनके फ्रैंड्स के साथ न्यूयॉर्क की सड़को पर साइकिल चलाते हुए दिख रही हैं।

इन तस्वीरों में प्रिंयका व्हाइट टी शर्ट और ब्लू डेनिम शॉर्ट में नजर आ रही हैं। वहीं निक ब्लैक शॉर्ट्स और वाइट टी- शर्ट में नजर आ रहे हैं। इन तस्वीरों में प्रियंका और और निक काफी कॉजी होते भी नजर आ रहे हैं। जहां एक तरफ प्रियंका और निक साइकिल चलाते दिख रहे है वहीं दूसरी तरफ प्रिंयका निक के बाल भी सलाती नजर आ रही हैं। इस दौरान प्रियंका और निक मस्ती के मूड में दिख रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले काफी समय से प्रियंका और निक की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। जिनके बाद से ही इन्हें लेकर मीडिया में अफेयर की खबरें आना शुरु हो गई। प्रियंका और निक ने अपने रिश्ते को लेकर भले ही कुछ कहा नहीं है लेकिन सोशल मीडिया पर दोनों एक दुसरे के प्रति प्यार दिखाते भी नही चूक रहे हैं।  

जेआई ही ‘मास्टर ऑफ रोस्टर’: सुप्रीम कोर्ट

CJI Master of Roster: Supreme Court

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को ऐतिहासिक फैसले में एक बार फिर स्पष्ट कर दिया कि देश के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) ही मुकदमों के आवंटन (रोस्टर) के लिए अधिकृत हैं। न्यायमूर्ति एके सिकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ ने पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण की याचिका खारिज करते हुए कहा कि शीर्ष अदालत के प्रशासनिक कामकाज के लिए सीजेआई अधिकृत हैं और विभिन्न खंडपीठों को मुकदमे आवंटित करना उनके इस अधिकार में शामिल है।

गत 8 माह में न्यायालय ने तीसरी बार यह स्पष्ट किया है कि सीजेआई ही ‘मास्टर ऑफ रोस्टर’हैं। खंडपीठ के दोनों न्यायाधीशों ने अलग-अलग परंतु सहमति का फैसला सुनाया। न्यायमूर्ति सिकरी ने अपना फैसला पढ़ते हुए कहा कि‘मास्टर ऑफ रोस्टर’ के तौर पर सीजेआई की भूमिका के बारे में संविधान में वर्णन नहीं किया गया है, लेकिन इसमें कोई संदेह या दुविधा नहीं है कि सीजेआई मुकदमों के आवंटन के लिए अधिकृत हैं।

उन्होंने कहा कि सीजेआई के पास न्यायालय के प्रशासन का अधिकार और जिम्मेदारी है। न्यायालय में अनुशासन और व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह भी है। न्यायमूर्ति सिकरी ने कहा कि यद्यपि सीजेआई शीर्ष अदालत के अन्य जजों के समान ही हैं, लेकिन उन्हें मुकदमों के आवंटन का अधिकार है और इसके लिए उन्हें कॉलेजियम के साथियों या अन्य न्यायाधीशों से सम्पर्क करने की आवश्यकता नहीं है।

न्यायमूर्ति अशोक भूषण ने भले ही अपना फैसला अलग से सुनाया, लेकिन यह सहमति का फैसला था। खंडपीठ ने ‘कैम्पेन फॉर ज्यूडिशियल अकाउंटेबलिटी एंड रिफॉम्र्स’ और अशोक पांडे से संबंधित मामले के फैसले को उचित ठहराते हुए कहा कि जब मुकदमों के आवंटन की बात हो तो ‘भारत के मुख्य न्यायाधीश’ को 5 वरिष्ठतम न्यायाधीशों के कॉलेजियम के तौर पर व्याख्यायित नहीं किया जा सकता।

उल्लेखनीय है कि शीर्ष कोर्ट ने गत 27 अप्रैल को फैसला सुरक्षित रख लिया था। पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण की ओर से उनके पुत्र प्रशांत भूषण और वरिष्ठ अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने जिरह की थी। याचिकाकर्ता ने मुकदमों के आवंटन में सीजेआई की मनमानी का आरोप लगाते हुए इसमें कॉलेजियम के 3 अन्य सदस्यों की सहमति को जरूरी बनाने का अनुरोध किया था। याचिकाकर्ता ने सीजेआई के मुकदमों के आवंटन के अधिकार पर भी सवाल खड़े किए थे। 

 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.