डेढ़ लाख तीर्थयात्रियों ने किये बाबा बर्फानी के दर्शन

Samachar Jagat | Friday, 12 Jul 2019 01:58:49 PM
1.5 lakh pilgrims performed Baba Blissi's vision

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ तीर्थयात्रा के 12वें दिन शुक्रवार तक डेढ़ लाख से अधिक यात्रियों ने हिमालय पर स्थित पवित्र अमरनाथ गुफा के बाबा बफार्नी के दर्शन किये।

आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि एक जुलाई को तीर्थयात्रा शुरू होने से लेकर गुरुवार रात तक 1,44,058 श्रद्धालुओं ने पवित्र शिवभलग के दर्शन कर लिये हैं। अमरनाथ तीर्थयात्रा का समापन 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा (रक्षा बंधन) के दिन होगा। उन्होंने बताया कि पारंपरिक पहलगाम और करीबी मार्ग बालटाल दोनों ही मार्गाें से यात्रा सुचारू रूप से जारी है और शाम तक छह हजार से अधिक यात्रियों के बाबा के दर्शन करने की संभावना है। रात्रि विश्राम के बाद विभिन्न मार्गाें से यात्रियों एवं श्रद्धालुओं के विभिन्न जत्थे पवित्र अमरनाथ गुफा की ओर रवाना हो चुके हैं। 

इस बीच सदियों पुरानी परंपरा के मुताबिक ‘भूमिपूजन’, ‘नवग्रह पूजन’ और ‘ध्वजारोहण’, जो भगवान शिव से जुड़ी पवित्र ‘छड़ी मुबारक’ की वार्षिक पूजा से जुड़े हुए हैं, के लिए ‘अषाढ़ पूर्णिमा’ के मौके पर 16 जुलाई को पहलगाम में समारोह का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। 

इस बीच साधुओं एवं साध्वियों समेत यात्रियों और श्रद्धालुओं का नया जत्था जम्मू के भगवती नगर से मध्य कश्मीर के गंदेरबल जिले में स्थित बालटाल तथा अनंतनाग के नूनवान पहलगाम स्थित आधार शिविरों के लिए अलग-अलग मार्गाें से रवाना हुए। 

‘हर हर महादेव’ और ‘बम बम भोले’ के जयकारों के साथ महिलाओं, बच्चों और साधुओं सहित तीर्थयात्रियों का नया जत्था नुनवान पहलगाम आधार शिविर से पारंपरिक यात्रा मार्ग पर वाहनों के अंतिम पड़ाव स्थल चंदनवारी के लिए रवाना हुआ। चंदनवारी सहित विभिन्न स्टेशनों पर रात्रि ठहराव करने वाले तीर्थयात्री आज सुबह अगले शिविरों के लिए रवाना हो गए।

उन्होंने कहा कि बालटाल आधार शिविर से तीर्थयात्रियों के नया जत्था तडक़े पवित्र गुफा के लिए रवाना हो गया। उन्होंने कहा कि महिलाओं, बच्चों और साधुओं सहित तीर्थयात्रियों का यह जत्था पैदल दूरी तय करने के बाद पवित्र गुफा में पहुंचेगा।

इस बीच हेलीकॉप्टर सेवा भी दोनों ओर से सामान्य रूप से चल रही है। उन्होंने कहा कि बहुसंख्यक तीर्थयात्री, यहां तक कि जो पहलगाम के रास्ते तीर्थयात्रा कर रहे हैं, वे भी बालटाल मार्ग से लौट रहे हैं।

बाबा बफार्नी के दर्शन करने के बाद अधिकांश तीर्थयात्री अपने घरों के लिए रवाना हो चुके हैं। कुछ तीर्थयात्री घर जाने से पहले गुलमर्ग, सोनमर्ग और पहलगाम सहित डल झील और अन्य पर्यटन स्थलों की यात्रा भी कर अपने तरीके से इस यात्रा का आनंद उठा रहे हैं। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.