कांग्रेस ने मोदी सरकार पर ‘अन्नदाताओं’ को ठगने का आरोप लगाया

Samachar Jagat | Tuesday, 13 Mar 2018 04:57:37 AM
Congress accused Modi government of cheating

नई दिल्ली। अपनी मांगों को लेकर मुंबई मार्च करने वाले किसानों का समर्थन करते हुए कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि भाजपा नीत केन्द्र एवं राज्य सरकारों ने कर्ज माफी सहित तमाम वादे कर देश के ‘‘अन्नदाताओं’’ को ठगा है तथा उनके कर्ज माफ करने के बजाय उद्योगपतियों के कर्जों को माफ किया जा रहा है। 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुंबई में किसानों के मार्च को जनता की ताकत का अद्भुत उदाहरण बताया। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस से उनकी जायज मांगों को मान लेने की अपील की। राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘मुंबई के लिए निकाला गया किसानों का विशाल मार्च जनता की ताकत का अद्भुत उदाहरण है। 

कांग्रेस पार्टी केन्द्र एवं राज्य सरकारों की बेरूखी के खिलाफ किसानों एवं आदिवासियों के मार्च के साथ है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं प्रधानमंत्री मोदी एवं मुख्यमंत्री (फडणवीस) से अपील करता हूं कि वे अहंकार पर नहीं अड़ें तथा किसानों की जायज मांगों को पूरा किया जाए।’’ हजारों की संख्या में किसान एवं आदिवासियों का मार्च मुंबई पहुंचा है। इन किसानों को कांग्रेस सहित विभिन्न राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया है।

कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत आये फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुअल मैक्रों की वाराणसी यात्रा का परोक्ष उल्लेख करते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी बनारस में नौका विहार कर रहे हैं और देश के किसान चीत्कार कर रहे हैं।’’ उन्होंने दावा किया कि आज महाराष्ट्र सहित देश का हर किसान आंदोलित है। 

उन्होंने कहा कि भाजपा की विभिन्न सरकारों के राज में कहीं ‘किसानों के सीनों पर गोलियां और शरीर पर लाठियां बरसायी जा रही हैं।’ उन्होंने कहा कि भाजपा की एक नेता ने महाराष्ट्र में मार्च कर रहे किसानों को ‘नक्सली’ करार दिया वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फडणवीस इन किसानों को आदिवासी बता रहे हैं। 

कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि क्या आदिवासियों को अपनी जमीन पर खेती करने का अधिकार नहीं है? सुरजेवाला ने दावा किया कि केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार आने के बाद किसानों की आत्महत्या की घटनाओं में 41.7 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि अकेले महाराष्ट्र में पिछले साल जनवरी से अक्तूबर के बीच 2414 किसानों ने आत्महत्या की। कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 के चुनाव से पहले किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना दिलाने का वादा किया था। किंतु बाद में इसी सरकार ने 2015 में उच्चतम न्यायालय में एक शपथपत्र देकर कहा कि किसानों को उनकी लागत के अलावा 50 प्रतिशत देना संभव नहीं हो पाएगा। 

उन्होंने कहा कि बाद में वित्त मंत्री अरूण जेटली ने 2018-19 के आम बजट में कहा कि किसानों को उनकी लागत के अलावा 50 प्रतिशत दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कृषि आय एवं मूल्य आयोग की 2018-19 की रबी बाजार मौसम की रिपोर्ट देखें तो किसानों को लागत के अलावा 50 प्रतिशत मुनाफा नहीं मिल पा रहा है। सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार उद्योगपतियों का कर्जा तो माफ कर सकती है किंतु उसकी राज्य सरकारों को किसानों का कर्ज माफ करने में कठिनाई आ रही है। 

उन्होंने एक प्रश्न के जवाब में बताया कि पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने जब किसानों का कर्ज माफ किया था तो उस समय कोई चुनाव नहीं होने जा जा रहा था। उन्होंने कहा कि गेहूं एवं दाल सहित देश में कई ऐसे अनाज हैं जिनका उत्पादन आज हमारे अन्नदाता देश की जरूरत से अधिक कर रहे हैं। इसके बावजूद देश में इन अनाजों का आयात कराया जा रहा है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि अपने अनाज का निर्यात करने के बजाय उनका आयात करवाने के पीछे साफ मकसद बिचौलियों को फायदा पहुंचाना है। कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार का दावा गलत है कि राज्य की गन्ना मिलों पर किसानों का कोई बकाया नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्य की कई गन्ना मिलों पर तीन-तीन माह से किसानों का बकाया है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.