बंगाल में राष्ट्रपति शासन की मांग नहीं, पर करेंगे प्रतिबंधों की अवहेलना : भाजपा

Samachar Jagat | Tuesday, 11 Jun 2019 12:19:58 PM
Demand for President's rule in Bengal, but will ignore restrictions: BJP

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में राजनीति हिंसा की पृष्ठभूमि में राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। इसी बीच भाजपा ने कहा कि वह राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग नहीं कर रही है, लेकिन वह विजय जुलूस सहित उनके राजनीतिक कार्यक्रमों पर ममता बनर्जी सरकार द्वारा लगाई गई रोक की अवहेलना जरूर करेगी।

भाजपा के महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने सोमवार को कहा कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस जिन लोकसभा सीटों पर जीती है, उसने वहाँ विजय जुलूस निकाले हैं, लेकिन राज्य सरकार ने धारा 144 लगा कर हमारे ऊपर प्रतिबंध लगा दिया है। धारा 144 के तहत पांच या ज्यादा लोगों के एक जगह एकत्र होने की मनाही होती है।

यह पूछने पर कि क्या भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग करेगी, उन्होंने इससे इंकार किया। विजयवर्गीय ने कहा, ‘‘हम अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग करना चाहते हैं। लेकिन राज्य सरकार ने उसके अधिकारों का इस्तेमाल हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने के लिये किया है। हमारे खिलाफ जो कार्रवाई की जा रही है हम उसका उल्लंघन करेंगे। यह हमारा अधिकार है।’’

भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में 12 जून को राज्य में प्रदर्शन करने की घोषणा की है। इन कार्यकर्ताओं की हत्या उन लोगों द्वारा की गई है जो कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस से जुड़े हुए हैं।

ममता बनर्जी और उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी पर निशाना साधते हुए विजयवर्गीय ने आरोप लगाया कि भाजपा से जुड़े लोगों को निशाना बनाने वाले तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के पीछे ‘बुआ-भतीजे’ के हाथ हैं।

इससे पहले पश्चिम बंगाल के राज्यपाल त्रिपाठी ने मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को राज्य के मौजूदा हालात से अवगत कराया। राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसक घटनाओं में अब तक दर्जनों लोग मारे गए हैं। लोकसभा चुनाव के बाद त्रिपाठी ने आज पहली बार प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से भेंट की। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.