बाढ़ से तबाह हुआ केरल, केंद्र से की 4,700 करोड़ रुपए की मांग

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 10:40:57 AM
Demanded Rs 4,700 crore from flooded Kerala, Center

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। केरल सरकार ने हाल ही की बाढ़ की वजह से जन,धन की भारी क्षति के मद्देनजर केंद्र से राहत के लिए 4,700 करोड़ रुपए की मांग की है। अधिकारी ने कहा कि इस बाढ़ को राज्य में सदी की सबसे बुरी बाढ़ करार दिया गया है। बाढ़ से प्रदेश के 14 जिले प्रभावित हुए हैं और कम से कम 488 लोगों की मौत हुई है।

RSS हिंदू राष्ट्रवाद का प्रतिनिधित्व करता है, मैं उसके न्योते को कभी स्वीकार नहीं करूंगा : ओवैसी

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि केरल सरकार ने गृह मंत्रालय को एक ज्ञापन भेजा है जिसमें जन-धन, बुनियादी ढांचे और फसलों के नुकसान की जानकारी दी गई है और तत्काल राहत के लिए 4,700 करोड़ रुपए की मांग की गई है।

किसी प्रदेश की उसके निपटने की क्षमता से परे किसी भी प्राकृतिक आपदा के मामले में, राज्य सरकार एक विस्तृत ज्ञापन प्रस्तुत करती है जिसमें तत्काल प्रकृति के राहत कार्यों के लिए क्षेत्रवार ब्यौरा सहित धन की आवश्यकता का विवरण होता है।

अधिकारी ने कहा कि इसी के अनुरूप केरल सरकार ने ज्ञापन भेजा है। मौजूदा दिशानिर्देशों के मुताबिक, केंद्र सरकार जल्द ही क्षतिपूर्ति और धन  की अतिरिक्त आवश्यकता के प्रभावित स्थल पर आकलन के लिए अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय टीम (आईएमसीटी) भेज देगी।

आईएमसीटी की रिपोर्ट मानदंडों के अनुरूप केंद्रीय गृह सचिव की अध्यक्षता में राष्ट्रीय कार्यकारी समिति (एससी-एनईसी) की उप समिति द्बारा विचार किया जाएगा और उसके बाद एनडीआरएफ से अतिरिक्त सहायता की मंजूर करने के लिए गृह मंत्री की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति द्बारा विचार किया जाएगा।

माल्या के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर में बदलाव करना निर्णय की त्रुटि थी : CBI

किसी भी अधिसूचित आपदा घटना के दौरान बचाव और राहत व्यय को पूरा करने के लिए वित्तीय तंत्र राज्य आपदा प्रतिक्रिया निधि (एसडीआरएफ) और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया निधि (एनडीआरएफ) के दिशानिर्देशों के अनुरूप किया जाता है।

प्रत्येक राज्य में राज्य आपदा प्रतिक्रिया निधि गठित की गई है जिसमें केंद्र की ओर से हर साल निरतंर वित्त आयोग के अवार्ड के अनुसार सामान्य श्रेणी के राज्यों के लिए 75 प्रतिशत और पहाड़ी क्षेत्रों के विशेष श्रेणी राज्यों के लिए 90 प्रतिशत का योगदान दिया जाता है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के अपने अपने दौरे के समय सहायता की घोषणा की थी। इसके अनुरूप 21 अगस्त को, केंद्र सरकार ने 600 करोड़ रुपए जारी किए। मोदी ने 500 करोड़ रुपए और राजनाथ सिंह ने 100 करोड़ रुपए देने का वायदा किया था। ये मदद राज्य के प्रदेश आपदा राहत निधि में पहले से उपलब्ध कराए गए 562.45 करोड़ रुपए के अतिरिक्त है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.