उच्च न्यायालय ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले के सरकारी गवाह को इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति दी

Samachar Jagat | Tuesday, 11 Jun 2019 10:46:12 AM
High court allowed government witnesses of AgustaWestland case to go abroad for treatment

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले से संबंधित धन शोधन मामले में सरकारी गवाह राजीव सक्सेना को विदेश जाकर अपने रक्त कैंसर और अन्य बीमारियों का इलाज कराने की सोमवार को इजाजत दे दी।

न्यायमूर्ति अनु मल्होत्रा ने उच्च न्यायालय के चार जून के आदेश को रद्द करते हुए सक्सेना को राहत दी। उच्च न्यायालय ने सक्सेना को विदेश जाने की अनुमति देने के निचली अदालत के एक जून के फैसले पर रोक लगा दी थी। सक्सेना हेलीकॉप्टर खरीद सौदे में बिचौलिया था।

निचली अदालत ने सरकारी गवाह को एक महीने के लिए छह जून से पांच जुलाई तक संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ब्रिटेन और यूरोप जाने की इजाजत दे दी थी। न्यायमूर्ति  मल्होत्रा ने सक्सेना की विदेश यात्रा की अवधि में बदलाव कर दिया और इसे 25 जून से 24 जुलाई के तक कर दिया।

उच्च न्यायालय ने सक्सेना को इस आधार पर राहत दी है कि उसे माफ करने और सरकारी गवाह बनाने से पहले ही चिकित्सा आधार पर जमानत दे दी गई थी। अदालत ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी उसे राहत प्रदान पर एतराज नहीं जताया है। 

उच्च न्यायालय ने रेखांकित किया कि मामले में अन्य दो आरोपी गौतम खेतान और ऋतु खेतान को विदेश जाने की इजाजत दी जा चुकी है। उच्च न्यायालय ने कहा कि अदालत नहीं समझती है कि (निचली अदालत) के आदेश को बदलना उचित है। उच्च न्यायालय ने सक्सेना को इस शर्त पर राहत दी कि वह ईडी को उन स्थानों के पते व संपर्क नम्बर देगा जहाँ वह विदेश यात्रा के दौरान जाएगा और ठहरेगा।

केंद्र सरकार के वकील अमित महाजन ने सक्सेना को राहत देने पर कड़ा ऐतराज जताया और कहा कि वह गैर जमानती वारंट जारी होने के बावजूद ईडी के सामने पेश नहीं हुआ था और यूएई को उसे भारत निर्वासित करना पड़ा था। महाजन ने अंदेशा व्यक्त किया कि अगर उसे विदेश जाने की इजाजत दी जाती है तो वह भाग सकता है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.