आज एलजी से मिलेंगे केजरीवाल, आदेश नहीं मानने वाले अधिकारियों को परिणाम भुगतने की चेतावनी

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 09:53:33 AM
Kejriwal to meet LG today, warns officials not to accept orders

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली के उप - राज्यपाल (एलजी) के अधिकारों में कटौती करने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज एलजी अनिल बैजल से मिलेंगे। इस बीच, तबादला - तैनाती के केजरीवाल सरकार के आदेश को लेकर एक बार फिर आम आदमी पार्टी (आप) सरकार और नौकरशाहों के रिश्तों में तनाव की स्थिति पैदा हो गई है।

मंदसौर घटना: बच्ची का बयान दर्ज, शिवराज बोले-‘नरपिशाचों’ को फांसी की सजा दिलाने की कोशिश करेंगे

केजरीवाल ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि यदि उन्होंने तबादले और तैनाती से जुड़े दिल्ली सरकार के आदेश नहीं माने तो उन्हें ''गंभीर परिणाम’’ भुगतने होंगे। एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली सरकार आदेश का पालन करने से इनकार करने वाले अधिकारियों के खिलाफ अवमानना याचिका दायर करने सहित अन्य कानूनी विकल्पों पर विचार कर रही है।

एक अन्य सरकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री केजरीवाल और उप - मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कल एलजी बैजल से मिलकर उच्चतम न्यायालय के आदेश पर चर्चा करेंगे। दिल्ली सरकार और केंद्र के बीच सत्ता के वर्चस्व की लड़ाई पर उच्चतम न्यायालय के कल के आदेश के बाद मुख्यमंत्री और एलजी की यह पहली मुलाकात होगी।

परस्पर समायोजन एवं सम्मान लोकतंत्र को मदद पहुंचाते हैं : मोदी

केजरीवाल ने एलजी बैजल को पत्र लिखकर कहा कि ' सेवा ’ से जुड़े मामले मंत्रिपरिषद के पास हैं। केजरीवाल ने यह पत्र तब लिखा जब अधिकारियों ने तबादला और तैनाती के अधिकार एलजी से लेने के ' आप ’ सरकार के आदेश को मानने से इनकार कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के उस फैसले के बाद केजरीवाल ने यह पत्र लिखा जिसमें एलजी के अधिकारों में खासा कटौती की गई है। अब 'आप’ सरकार लोक कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन और न्यायालय के फैसले के बारे में अपने सभी अधिकारियों को आदेश जारी करने की तैयारी में है।
बैजल को लिखे गए पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि अब किसी भी मामले में एलजी की मंजूरी लेने की जरूरत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि सभी पक्षों को सुप्रीम कोर्ट का आदेश अक्षरश : लागू कराने की दिशा में काम करने की जरूरत है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.