मंदाकिनी नदी उफान पर, केदारनाथ में हालत खराब, आपदा जैसे हालात

Samachar Jagat | Monday, 30 Jul 2018 11:37:12 AM
Mandakini river ful, bad condition in Kedarnath

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

रुद्रप्रयाग। विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम में गरूड़चटटी को जोडऩे वाला पैदल पुल मंदाकिनी नदी के तेज बहाव में डूब गया है और नदी पार फंसे मजदूर जान जोखिम में डालकर रस्सी के सहारे मंदाकिनी नदी को पार करने पर मजबूर हैं। शनिवार से मजदूरों को रस्सी के सहारे ही भोजन और पानी भी भेजा जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक केदारनाथ धाम में 16-17 जून वर्ष 2013 की आपदा जैसे हालात पैदा हो गए हैं। गत 2 दिनों से केदारनाथ धाम में  मंदाकिनी नदी विकराल रूप लेकर बह रही है जिससे केदारनाथ धाम में हालात अस्त-व्यस्त हो गए हैं। केदारनाथ धाम के गरूड़चटटी में इन दिनों पुनर्निर्माण कार्य चल रहे हैं। कई मजदूर गरूड़चटटी में पुनर्निर्माण कार्य में लगे हैं।

भारी बारिश की वजह से गरूड़चटटी को जोडऩे वाला पैदल पुल मंदाकिनी नदी के उफान में क्षतिग्रस्त होने के साथ ही डूब गया है जिसके कारण मजदूर नदी के उस पार ही फंस गए हैं। मजदूरों के सम्मुख अब खाने का संकट पैदा हो गया है। ऐसे मे अब मजदूर उफान पर आई मंदाकिनी नदी को रस्सी के सहारे जान जोखिम में डालकर पार कर रहे हैं।

इसके साथ ही रस्सी के सहारे केदारनाथ धाम में मजदूरों के लिये खाना भी पहुंचाया जा रहा है। नदी के उस पार कई मजदूर एवं साधु संत फंसे हैं। केदारनाथ में गरूड़चट्टी को जाने वाले पैदल पुल के मंदाकिनी नदी में डूब जाने से दूसरी ओर राहत सामग्री पहुंचाने में नेहरू पर्वता रोहण संस्थान की लड़कियां सबसे आगे हैं।

रस्सी के सहारे उफनदी मंदाकिनी के ऊपर से गरूड़चट्टी की ओर राहत सामग्री पहुंचाने का काम लड़कियां कर रही है, जिसे देखकर हर कोई हैरान है। बिना किसी डर और खौफ के ये लड़कियां आसानी से रस्सी के सहारे नदी को पार कर रही हैं। नदी पार फंसे मजदूरों को रस्सी के सहारे खाना भेजा जा रहा है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.