बिहार में हो रहा हैं पोस्टर वार, सत्ता परिवर्तन को लेकर चल रहा है पोस्टर वार

Samachar Jagat | Tuesday, 03 Sep 2019 02:57:57 PM
Poster war is happening in Bihar, poster war is going on for change of power

इंटरनेट डेस्क। बिहार विधानसभा चुनावों में अभी वक्त है लेकिन इसकी बिहार में देखने को मिल रही है। जदयू और राजद के बीच सीधी लड़ाई अभी से दिखने लगी है।


loading...

जदयू ने चुनावी तैयारी करते हुए अपना पहला पोस्टर जारी किया है, जिसमें आगामी चुनाव के लिए बिहार में बहार नहीं बल्कि क्यूं करे विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार.... का स्लोगन भी जारी किया गया है।

जेडीयू इस नारे के जरिए यह संदेश देना चाहती है कि नीतीश कुमार का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। ऐसे में किसी दूसरे के लिए विचार क्यों किया जाए। इस पोस्टर का जवाब देते हुए राजद ने भी अपना पोस्टर जारी किया है जिसका स्लोगन मौजूदा सरकार और सीएम नीतीश पर सीधा हमला बोला गया है। स्लोगन है-क्यों ना करें विचार, बिहार है बीमार.... ।

जदयू का मानना है कि बिहार में नीतीश कुमार का कोई विकल्प नही हैं। ऐसे में गांव के चैपालों पर जो आम बोलचाल की भाषा में चर्चा होती है तो अंत में यही उभर के सामने आता है कि यूं करे विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार .... इस नारे को  जदयू के राष्ट्रीय सचिव उपेन्द्र कुमार सिंह ने दिया है, जिसे पार्टी कार्यालय के बाहर लगाया गया है।

राजद ने बिहार सरकार और सीएम नीतीश कुमार की नाकामियों को उजागर किया है और अपने पोस्टर पर बिहार के नक्शे में चमकी बुखार, बाढ़, हत्या, सुखाड़, डकैती, अपहरण, लूट को दर्शाते हुए बिहार की कुव्यवस्था को दिखाया है।

बिहार के 2015 विधानसभा चुनाव में जदयू-राजद साथ थे और तब बिहार में बहार हो, नीतीशे कुमार हो का नारा दिया गया था और यह नारा बिहार में खूब चला था। इसे राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गढ़ा था। उस वक्त नीतीश कुमार महागठबंधन का चेहरा थे। आज दोनों के पोस्टर अलग हैं।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.