29 जुलाई: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 29 Jul 2018 04:36:50 PM
today's top ten news

मन की बात कार्यक्रम में PM मोदी ने कहा, सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार कहने का वक्त आ गया

Modi said in mann ki baat programme it is time to say that Suraj is our birthright

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में शासन की गुणवत्ता में सुधार पर बल देते हुए रविवार को कहा कि सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है कहने का वक्त आ गया है। आकाशवाणी से प्रत्येक माह प्रसारित मन की बात कार्यक्रम में मोदी ने स्वतंत्रता आंदोलन के महान सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के मशहूर नारे स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है का उल्लेख करते हुए कहा कि अब नए भारत के संदर्भ में सुशासन पर जोर देने और सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है कहने का उचित वक्त आ गया है। 

उन्होंने कहा, लोकमान्य तिलक ने देशवासियों में आत्मविश्वास जगाने का काम किया था और नारा दिया था- स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और इसे हम लेकर रहेंगे। आज यह कहने का समय आ गया है- सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और हम इसे लेकर रहेंगे। मोदी ने कहा कि प्रत्येक भारतीय को सुशासन और विकास का सकारात्मक लाभ हासिल करने का अधिकार है। 

उन्होंने सामाजिक जागरण और सामूहिकता का भाव जगाने के लिए लोकमान्य तिलक के प्रयासों को याद करते हुए कहा, लोकमान्य तिलक के प्रयासों से ही सार्वजनिक गणेशोत्सव की परम्परा शुरू हुई। सार्वजनिक गणेश उत्सव परम्परागत श्रद्धा और उत्सव के साथ-साथ समाज-जागरण, सामूहिकता, लोगों में समरसता और समानता के भाव को आगे बढ़ाने का प्रभावी माध्यम बन गया था।

उन्होंने कहा कि वह एक कालखंड था जब जरूरत थी कि देश अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई के लिए एकजुट हो, इन उत्सवों ने जाति और सम्प्रदाय की बाधाओं को तोड़ते हुए सभी को एकजुट करने का काम किया। उन्होंने महान स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद को भी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि देश के प्रति आजाद के जज्बे और उनकी बहादुरी देशवासियों को हमेशा प्रेरित करते हैं।

ग्रैंड मदर ऑफ ऑल द करप्शन है राफेल विमान सौदा: कांग्रेस

Grand Mother of All the Corruption is Raphael Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस ने राफेल विमान सौदे को ग्रैंड मदर ऑफ ऑल द करप्शन (भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा मामला) करार दिया और दावा किया कि यह सब राजनीतिक रूप से कम अनुभव वाली रक्षा मंत्री के कंधे पर बंदूक रखकर किया जा रहा है। पार्टी ने एक निजी समूह की रक्षा कंपनी को राफेल से जुड़े कांट्रैक्ट मिलने पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिस कंपनी को काली सूची में होना चाहिए उसे इतना बड़ा कांट्रैक्ट क्यों दिया गया है।

कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, देश के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि एक प्रधानमंत्री के तहत चार साल में तीन रक्षा मंत्री हुए हों। मोदी के कार्यकाल में चार साल में तीन रक्षा मंत्री आ चुके हैं। अरुण जेटली आए, उन्होंने देखा कि मोदी मेरे कंधे पर बंदूक रख रहे हैं, बचके निकल गए। मनोहर परिंकर आए, मौका ढूंढा, अपने राज्य में चले गए। उन्होंने कहा, मौजूदा रक्षा मंत्री के पास अभी बड़ा राजनीतिक अनुभव नहीं है। निर्मलाजी के कंधे पर गन नहीं, तोप रखकर यह कराया जा रहा है। राफेल सौदा ग्रैंड मदर ऑफ ऑल द करप्शन है।

कांग्रेस और राहुल गांधी राफेल डील में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए मोदी सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं। कांग्रेस ने इसी मामले में प्रधानमंत्री मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे रखा है। पार्टी का आरोप है कि राफेल विमानों की कीमत बताने के संदर्भ में मोदी और सीतारमण ने सदन को गुमराह किया है।

इंडोनेशिया में आया 6.4 तीव्रता का भूकंप, तीन लोगों की मौत

6.4 earthquake of magnitude, three deaths in Indonesia

​​​​​​​जकार्ता। इंडोनेशिया के लोम्बोक द्वीप में आज 6.4 तीव्रता वाला भूकंप का झटका महसूस किया गया और भूकंप की वजह से कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) ने दी है। यूएसजीएस ने बताया कि इस शक्तिशाली भूकंप का केंद्र सात किलोमीटर की गहराई में था और यह स्थानीय समय के अनुसार छह बजकर 47 मिनट पर आया। यह भूकंप इस द्वीप के मुख्य शहर माटरम से 50 किलोमीटर दूर उत्तरपूर्वी क्षेत्र में आया।

लोम्बोक इंडोनेशिया का लोकप्रिय पर्यटन स्थल है और यह रिजॉर्ट के लिए मशहूर द्वीप बाली से 100 किलोमीटर पूर्व में स्थित है। इंडोनेशिया के भूभौतिकी एवं मौसम एजेंसी ने बताया कि 6.4 तीव्रता का भूंकप आने के बाद 11 और झटके महसूस किए गए। इंडोनेशिया आपदा प्रबंधन एजेंसी के एक प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो ने बताया, ''पर्वी लोम्बोक में एक व्यक्ति और उत्तरी लोम्बोक में दो लोगों की मौत हो गई।"

हालांकि यह नहीं बताया गया है कि इन पीडि़तों की मौत कैसे हुई। उत्तरी लोम्बोक में इस भूकंप में कम से कम दो दर्जन लोग घायल हो गए और एक घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। नुग्रोहो ने बताया कि भूकंप की वजह से भूस्खलन की आशंका को देखते हुए माउंट भरजानी पर हाइकिंग ट्रेल बंद कर दिया गया है।

एजेंसी के प्रवक्ता हैरी टिर्टो दजातमिको ने एक बयान में बताया कि अब तक सुनामी का अलर्ट जारी किया गया है। इंडोनेशिया में भूकंप आने की आशंका ज्यादा बनी रहती है क्योंकि यह क्षेत्र पैसिफिक भरग्स ऑफ फायर में स्थित है।

भारत, चीन-ईरान नहीं, जो इमरान की मदद करे: एसोचैम

India, not China-Iran, which can help Imran: Assocham

​​​​​​​कोलकाता। इमरान खान के पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री बनने पर चीन और ईरान अर्थव्यवस्था संकट से उबारने में भले ही इसकी सहायता करें, लेकिन केवल भारत ही पाकिस्तान के अमेरिकी डॉलर से संचालित आयात पर निर्भरता को कम करने में मदद कर सकता है। एसोचैम के अनुसार जैसे ही इमरान खान प्रधानमंत्री पद ग्रहण करेंगे वैसे ही उनको आर्थिक मोर्चे पर मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। उनके पास अमेरिकी डॉलर से विनिमय करने के लिए 10 अरब से कम ही राशि है। पाकिस्तान चुनाव में खान की जीत की बधाई देते हुए एसोचैम ने कहा कि नए प्रधानमंत्री को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा ।        

सरकारी सेंट्रल बैंक द्वारा दिंसबर से तीन बार अवमूल्यन के बाद एक अमेरिकी डॉलर की कीमत पाकिस्तान के 130 रुपए आस-पास हो गया जिससे आयात काफी मँहगा हो गया है जबकि मुद्रास्फीति बढ़ रही है। परिष्कृत पेट्रोलियम तेल, कम्प्यूटर, विद्युत मशीनरी, लोह और इस्पात और ऑटोमोबाइल मुख्य पांच पाकिस्तानी आयात वस्तुएं हैं जो देश के लिए जरुरी हैं।

पाकिस्तान सरकार भारत सरकार के साथ व्यापार के लिए प्रयास कर सकती है जो नकदी के बिना इन सभी वस्तुओं को काउंटर-ट्रेड में निर्यात करें। यह पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार के लिए बड़ी राहत हो सकती है, जबकि भारत के पास भारतीय रिज़र्व बैंक के साथ 400 अरब अमेरिकी डॉलर के सौदे के लिए पर्याप्त जगह है। एसोचैम के अनुसार नए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को नेतृत्व क्षमता दिखानी है, जैसी उन्होंने अपने विजय भाषण के दौरान दिखायी है। जिससे पाकिस्तान की मुख्य समस्याओं, सीमा पार से वस्तुओं का आयात और नकदी के बिना लेनदेन का समाधान हो सके।  

चैंबर के अनुसार चीन और ईरान पाकिस्तान के लिए रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण हो सकते हैं, जबकि बीजिंग और तेहरान अमेरिका से साथ व्यापार युद्ध और प्रतिबंधों के होते हुए अपने व्यापार और राजनीतिक तनाव को बहाल कर रहे हैं। इन परिस्थितियों में, इमरान खान के लिए पहला पड़ाव दिल्ली होना चाहिए

जब मोदी को सामने देख घबरा गयेे थे इमरान

Imran Khan when Modi was nervous in front

​​​​​​​नई दिल्ली। पाकिस्तान के वजीर ए आजम बनने जा रहे पूर्व क्रिकेट कप्तान इमरान खान का एक बार जब श्री नरेंद्र मोदी से आमना सामना हुआ था तो वह बुरी तरह घबरा गये थे। यह वाकया 2006 में यहां एक सम्मेलन के दौरान हुआ था। श्री मोदी उस समय गुजरात के मुख्यमंत्री थे। इस वाकिये का खुलासा इमरान पर लिखी गयी पुस्तक 'इमरान वर्सेज इमरान-द अनटोल्ड स्टोरी' में किया गया है।

पाकिस्तान में हाल में हुये राष्ट्रीय एसेंबली के चुनाव में इमरान खान की पार्टी 'पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ' सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है और वह सत्ता में आने जा रही है। इमरान और श्री मोदी को इस सम्मेलन में वक्ता के तौर पर आमंत्रित किया गया था। इमरान को यह जानकारी नहीं थी कि श्री मोदी भी उनके पैनल में शामिल हैं। वह अपनी सीट पर बैठे ही थे कि उन्होंने देखा कि सामने से श्री मोदी उनकी ओर चले आ रहे हैं। श्री मोदी एक झटके में उनके ठीक सामने आ गये जिन्हें देखकर इमरान सन्न रह गये।

उन्होंने नजरें बचाने की कोशिश की लेकिन श्री मोदी ने उनसे गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाया। न चाहते हुए भी इमरान को मजबूरन खड़े होना पड़ा। श्री मोदी ने इमरान के साथ बातचीत में उनके क्रिकेट कौशल की जमकर सराहना की। उन्होंने इमरान के नेतृत्व में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम और भारतीय टीम के कई मुकाबलों को याद किया। इमरान भी इस बात से हैरान थे कि श्री मोदी के पास क्रिकेट और उनके खेल को लेकर कितनी जानकारी है।

उन्होंने इमरान की गेंदबाजी, बल्लेबाजी और कप्तानी तीनों की जमकर सराहना की। किताब में बताया गया है कि इमरान के लिये अचानक हुई यह मुलाकात मुश्किल भरी थी और वह उस समय मूक होकर रह गये थे। जैसे तैसे उन्होंने अपनी सराहना के लिए श्री मोदी का धन्यवाद किया। इमरान की हालत उस समय और पतली हो गयी जब उन्होंने देखा कि कई फोटोग्राफर इस मुलाकात को कैमरे में कैद करने के लिये लपके चले आ रहे हैं।

किताब के अनुसार श्री मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री रहते 2002 में वहां हुए दंगों के कारण पाकिस्तान में उनकी छवि काफी खराब बनी हुई थी और इमरान को उस समय यह ख्याल दहशत में डाल गया कि यदि इस मुलाकात की फोटो पाकिस्तान के अखबारों में मुख पृष्ठ पर छप गयी तो उनकी राजनीतिक छवि को गहरा झटका लगेगा, लेकिन वह उस समय कुछ करने की स्थिति में नहीं थे। किताब में कहा गया है कि इमरान को उस वक्त बड़ी राहत मिली जब उन्होंने पाया कि पाकिस्तानी प्रेस में इस मुलाकात को लेकर कुछ भी नहीं छपा है और इसकी तस्वीरें सीमा पार नहीं पहुंच पायी हैं।

माइक हसी ने कहा कुलदीप की जगह इस खिलाड़ी को मिले मौका...

Mike Hussey says ashwin should replace Kuldeep in place of team

खेल डेस्क। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर माइक हसी ने इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में कुलदीप यादव की जगह रविचन्द्र अश्विन को टीम के शामिल करने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में कुलदीप यादव की जगह अनुभवी रविचंद्रन अश्विन को टीम में जगह देनी चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस दौरान माइक हसी ने कहा कि मुझे नहीं पता चयनकर्ता इस बारे में क्या सोच रहे हैं। उन्होंने के कहा कि व्यक्तिगत रूप से मुझे लगता है कि कुलदीप की जगह अश्विन को तरजीह मिलनी चाहिए। उनके नाम 300 से ज्यादा विकेट हैं। अश्विन शुरूआती एकदश में जगह पाने के हकदार हैं।

हसी की राय हालांकि कई विशेषज्ञों के मौजूदा दृष्टिकोण के विपरीत है, जिन्होंने पांच मैचों की श्रृंखला में टेस्ट टीम में 23 वर्षीय चाइनामैन गेंदबाज के चयन का समर्थन किया है। तमिलनाडु प्रीमियर लीग (टीएनपीएल) में स्टार स्पोर्ट्स कमेंटेटर के रूप में यहां आएं हसी ने कहा कि बायें हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ अश्विन बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

कुलदीप ने शानदार प्रदर्शन किया है, लेकिन मुझे लगता है कि भारत को अश्विन के साथ उतरना चाहिए। कुलदीप युवा हैं और उसे अभी काफी कुछ सीखना है। एक सवाल पर हसी ने कहा कि भारत की टीम अच्छी है और अच्छा क्रिकेट खेल रही है। टीम के ज्यादातर खिलाड़ी कुछ समय से इंग्लैंड में हैं। उन्होंने कहा कि वहां के पिचों और गेंदों को समझने और सामंजस्य बैठाने में थोड़ा समय लगता है।

शीर्ष 10 कंपनियों में से सात का बाजार पूंजीकरण 79,929 करोड़ रुपए बढ़ा

Market capitalization of seven of the top 10 companies increased by Rs 79,929 crore

​​​​​​​नई दिल्ली। देश की शीर्ष 10 में से सात कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में पिछले हफ्ते कुल 79,929 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। इसमें सबसे बेहतर प्रदर्शन आईटीसी का रहा है। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ( टीसीएस ), मारुति सुजुकी और कोटक महिंद्रा बैंक को छोड़कर रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी और भारतीय स्टेट बैंक समेत सभी सात शीर्ष कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में इजाफा हुआ है। शुक्रवार को समाप्त सप्ताह में आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 35,129.72 करोड़ रुपए बढ़ा है जो सबसे अधिक रहा है। इसके बाद कंपनी का कुल बाजार पूंजीकरण 3,69,259.15 करोड़ रुपए हो गया।

इसके बाद भारतीय स्टेट बैंक का बाजार पूंजीकरण 22,891.57 करोड़ रुपए बढ़कर 2,55,778.68 करोड़ रुपए रहा। वहीं एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 11,712.2 करोड़ रुपए बढ़कर 3,45,563.52 करोड़ रुपए हो गया। इसी प्रकार आईटी क्षेत्र की इंफोसिस का बाजार पूंजीकरण 5,722.41 करोड़ रुपए बढ़कर 3,00,219.21 करोड़ रुपए रहा और एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 3,515.53 करोड़ रुपए बढ़कर 5,82,414.74 करोड़ रुपए हो गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 665.33 करोड़ रुपए बढ़कर 7,15,772.03 करोड़ रुपए रहा और हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड का मूल्यांकन 292.23 करोड़ रुपए बढ़कर 3,58,798.88 करोड़ रुपए रहा।

वहीं देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार टीसीएस का बाजार पूंजीकरण बीते सप्ताह में 20,234.02 करोड़ रुपए घटकर 7,43,930.44 करोड़ रुपए रहा है। वहीं कोटक महिंद्रा का बाजार पूंजीकरण 4,279.27 घटकर 2,49,893.89 करोड़ रुपए हो गया। मारुति के बाजार पूंजीकरण में 2,153.83 करोड़ रुपए की गिरावट देखी गई है जो 2,81,401.17 करोड़ रुपए हो गया। कंपनियों के बाजार पूंजीकरण के लिहाज से टीसीएस शीर्ष पर बनी हुई है। इसके बाद क्रमश: रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, आईटीसी, हिंदुस्तान युनिलीवर, एचडीएफसी, इंफोसिस, मारुति, एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक का स्थान रहा है। पिछले सप्ताह सेंसेक्स 840.48 अंक या 2.30 प्रतिशत की बढ़त के साथ अब तक के रिकार्ड स्तर 37,336.85 अंक पर बंद हुआ।

देश छोड़कर भागने वाले धोखेबाजों पर लगाम लगाने के लिए पासपोर्ट कानून में बदलाव की सिफारिश

Recommendation of change in passport law to rein in fraudsters who fled the country

​​​​​​​नई दिल्ली। विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे धोखेबाजों के देश छोड़कर भाग जाने पर लगाम लगाने के लिए एक अंतर मंत्रालयी समिति ने पासपोर्ट कानून को कड़ा करने का सुझाव दिया है। इस संबंध में समिति ने गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। चोकसी के हाल में एंटीगुआ की नागरिकता लेने के बाद गृह मंत्रालय ने इस समिति का गठन किया था। समिति को ऐसे भारतीय पासपोर्ट धारकों के मामले देखने को कहा गया है जिन्होंने दोहरी नागरिकता ले ली है।

इसके बाद समिति ने वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार की अध्यक्षता में एक उप-समूह का गठन किया जिसे भारतीय पासपोर्ट और दोहरी नागरिकता के मुद्दे को देखने का काम दिया गया। सूत्रों ने बताया कि जांच के बाद कुमार की अध्यक्षता वाली समिति ने पासपोर्ट कानून में संशोधन की सिफारिश की है ताकि जानबूझकर ऋण नहीं चुकाने वालों और धोखेबाजों के देश छोड़कर भाग जाने पर लगाम लगायी जा सके।

उल्लेखनीय है कि चौकसी पंजाब नेशनल बैंक के साथ दो अरब डॉलर की कथित धोखाधड़ी में शामिल हैं और पिछले साल उसने एंटीगुआ की नागरिकता ले ली है। सूत्रों ने बताया कि जिन लोगों के पास दो देशों के पासपोर्ट हैं उनसे निपटना भारतीय अधिकारियों के लिए काफी मुश्किल भरा है। समिति ने इसके लिए कई सुझाव दिए हैं जिसमें भारतीय नागरिकता समाप्त करने का प्रावधान भी है। इस समिति में गृह और विदेश मंत्रालय के अलावा सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय, भारतीय रिजर्व बैंक और खुफिया ब्यूरो के प्रतिनिधि भी शामिल हैं। 

तेलुगू अभिनेत्री अन्नपूर्णा की बेटी ने की आत्महत्या

Telugu actress Annapurna's daughter commits suicide

​​​​​​​हैदराबाद। तेलुगू फिल्मों की जानी मानी अभिनेत्री अन्नपूर्णा पर दुखों का पहाड़ टूट गया हैं। आपको बता दें कि अभिनेत्री अन्नपूर्णा की बेटी ने आत्महत्या कर ली हैं। अन्नपूर्णा की बेटी कीर्ति ने शनिवार सुबह हैदराबाद की श्रीनगर कालोनी स्थित आवास पर कथित रूप से आत्महत्या कर ली।

मृतक कीर्ति महज 23 साल की थी। कीर्ति का शव उनके आवास पर पंखे से लटका मिला। वेंकटकृष्ण जब सुबह जागा तो उसने कीर्ति को छत के पंखे से लटका पाया। वेंकटकृष्ण ने तुरंत इसकी जानकारी पास ही गोदावरी ब्लाक में रहने वाली कीर्ति की मां अन्नपूर्णा को दी।

इसके बाद आत्महत्या की जानकारी पुलिस को दी गयी। पुलिस ने बताया कि वेंकटकृष्ण कल रात दो बजे बेंगलुरु से यहां आया था। वेंकटकृष्ण और उसकी पत्नी कीर्ति अलग-अलग बेडरूम में सोये हुए थे।  पुलिस ने मौके पर पहुंचकर संदिग्ध मौत का मामला दर्ज कर लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए उस्मानिया अस्पताल में भेज दिया। पुलिस ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

तीन साल पहले हुई थी शादी

कीर्ति की शादी तीन वर्ष पहले ही बेंगलुरु के सॉफ्टवेयर इंजीनियर वेंकटकृष्णा से हुई थी। बता दें कि फिल्म इंडस्ट्री में पिछले कुछ दिनों से स्टार्स के निधन और आत्महत्या की खबरें सामने आ रही हैं। जिन्होंने पूरी फिल्म इंडस्ट्री को सकते में डाल दिया हैं।

मामूली से विवाद में पंचायत सचिव को दी ये खौफनाक सजा...

Panchayat secretary shot dead in Sagar

​​​​​​​सागर। मध्यप्रदेश में एक व्यक्ति की हत्या करने का मामला सामने आया है। यहां एक पंचायत सचिव को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। मामला मध्यप्रदेश के सागर शहर के राहतगढ़ थाना इलाके का बताया जा रहा है। उधर मामले की जानकारी लगने के बाद पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी ली।

पुलिस ने मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। मीडिया रिपोट्र्स से मिली जानकारी के अनुसार  सागर शहर में आपसी विवाद को लेकर चली गोली में एक पंचायत सचिव की मौत हो गई। मीडिया रिपोट्र्स से मिली जानकारी के अनुसार घटना को लेकर पुलिस ने बताया है कि राहतगढ़ थाना इलाके के मुगरयाऊ तिराहे पर स्थित एक ढाबे में रात को किसी बात को लेकर कुछ लोगों में आपसी विवाद हो गया था।

इस दौरान वहां हुई फायरिंग में नरयावली थाना इलाके के सेमरा निवासी अशोक लहरिया की मौत हो गई। इस घटना में दो अन्य लोगों विठ्ठल पटेल और कलू यादव भी फायरिंग में छर्रे लगने के कारण घायल हो गए है। रिपोट्र्स के अनुसार पुलिस ने बताया है कि अशोक गंभीरिया हाट पंचायत में सचिव के पद पर पदस्थ था।

जिसको पेट के नीचे गोली लगी और लगभग 30 छर्रे निकले हैं। पुलिस का कहना है कि पुरानी रंजिश के तहत घटना को अंजाम दिया है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.