बिटकॉइन के यूज से होता है बड़ी मात्रा में कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन : अध्ययन

Samachar Jagat | Monday, 17 Jun 2019 04:05:39 PM
use of bitocaine is caused by large amounts of carbon dioxide emissions: study

बर्लिन। मशहूर डिजिटल मुद्रा बिटकॉइन से सालाना 22 मेगाटन कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन होता है जो लास वेगास और वियना जैसे शहरों के कुल कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन के बराबर है। एक अध्ययन में इस बात की जानकारी मिली है। जर्मनी में टेक्निकल यूनिवर्सिटी ऑफ म्यूनिख (टीयूएम) से अनुसंधानकर्ताओं ने बिटकॉइन प्रणाली के कार्बन फुटप्रिंट की अब तक की सबसे विस्तृत गणना की।

वैश्विक बिटक्वाइन नेटवर्क में बिटक्वाइन के हस्तांतरण एवं उसके वैध बनने की प्रक्रिया में किसी भी कम्प्यूटर से एक गणितीय पहेली को हल करना जरूरी होता है। इस नेटवर्क में कोई भी शामिल हो सकता है और पहेली सुलझाने वाले को बदले में इनाम स्वरूप बिटकॉइन मिलता है।

इस पूरी प्रक्रिया में जिस गणन क्षमता का इस्तेमाल होता है उसे बिटकॉइन माइनिंग के नाम से जाना जाता है, जिसमें हाल के वर्ष में तेजी से इजाफा हुआ है। आंकड़े बताते हैं कि सिर्फ 2018 में ही इसमें चौगुना इजाफा हुआ। नतीजतन बिटक्वाइन की होड़ ने यह सवाल भी पैदा किया कि क्या क्रिप्टोकरेंसी जलवायु पर अतिरिक्त बोझ तो नहीं डाल रही।

कई अध्ययनों में बिटक्वाइन माइनिंग से होने वाले कार्बन डाई ऑक्साइड के उत्सर्जन का पता लगाने का प्रयास किया गया है। टीयूएम और मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के अनुसंधानों को करने वाले क्रिश्चियन स्टोल ने कहा कि हालांकि ये अध्ययन अनुमानों पर आधारित हैं।

अनुसंधानकर्ताओं ने इसके लिये इंटरनेट के माध्यम से सर्च इंजनों का इस्तेमाल कर बिटक्वाइन माइनर के आईपी एड्रेस का पता लगाया और फिर इससे प्राप्त नतीजों से निष्कर्षों की दोबारा जांच की। अध्ययन के निष्कर्ष के अनुसार, बिटक्वाइन प्रणाली में प्रतिवर्ष कार्बन फुटप्रिंट 22 और 22.9 मेगाटन होता है जो हैमबर्ग, वियना या लास वेगास जैसे शहरों के फुटप्रिंट के बराबर हैं। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.