आगरा रैली से चुनावी बिगुल फूंक गए मोदी

Samachar Jagat | Friday, 25 Nov 2016 02:05:45 PM
आगरा रैली से चुनावी बिगुल फूंक गए मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगरा परिवर्तन रैली ने बसपा प्रमुख मायावती की आगरा रैली में जुटी भीड़ के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंच पर आये उससे घंटों पहले ही आगरा का कोठी मीना बाजार मैदान खचाखच भर चुका था। लोगों के आने का सिलसिला आगरा की सडक़ों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन तक रहा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली के लिए लोगों का उत्साह उनके चेहरे से दिख रहा था। लोग कई किलोमीटर से पैदल चलकर मोदी की झलक पाने के लिए पहुंचे और हजारों लोग तो आगरा शहर में जाम के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सभा स्थल तक ही नहीं पहुंच पाए। परिवर्तन रैली में महिलाओं की तादात भी हजारों में थी। 

भाजपा को खासकर शहरी क्षेत्र की पार्टी माना जाता है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली में आगरा के गांव-गांव से लोग पहुंचे। उनमें अधिकतर गरीब, किसान और मध्यम वर्ग से थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगरा परिवर्तन रैली में आयी हुई जनता पैसे देकर बुलाई हुई जनता नहीं थी बल्कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग के लिए किये जा कामों से प्रभावित होकर आई थी। सभा को संबोधित करने से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों के लिए जिनके पास अपना घर नहीं है, प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण का शुभारंभ किया। 
यह योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है।

 इस योजना के अन्तर्गत सभी ग्रामीण परिवारों को जिनके पास खुद का घर नहीं है, उनको आजादी की 75वीं वर्षगांठ वर्ष 2022 तक पर्यावरणीय रूप से सुरक्षित व पक्के घर उपलब्ध कराये जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को प्रति घर लगभग 1.50-1.60 लाख रुपये में उपलब्ध कराये जायेंगे।

 लाभार्थी की इच्छा पर 70,000 रुपए की राशि के ऋण का भी प्रावधान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा जिले के लाभान्वितों को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के अंतर्गत स्वीकृति पत्र भी प्रदान किये। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा वर्ष 2019 तक एक करोड़ घर बनाने का लक्ष्य है।

 जिन लोगों के पास अपना खुद का घर नहीं है तथा एक या दो कमरे के कच्ची छत कच्ची दीवार के मकान में रहने वाले गरीब परिवारों को इस कार्यक्रम में शामिल किया गया है। प्रधानमंत्री ने साथ ही साथ मथुरा से पलवल चैथी रेल लाइन और मथुरा जंक्शन से भूतेश्वर यार्ड ढांचे में परिवर्तन व रेल फ्लाईओवर का भी शिलान्यास किया। आगरा की परिवर्तन रैली में 500 और 1000 के नोटों की नोटबंदी के कारण विपक्ष के निशाने पर आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर अपने विरोधियों और कालाधन रखने वाले लोगों पर निशाना साधा।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा परिवर्तन रैली में गरीबों और आम आदमी की तारीफ करते हुए कहा कि नोटबंदी से देश के गरीब, नौकरीपेशा और मध्यम वर्ग ने सबसे ज्यादा कष्ट उठाया है, इसके बाद भी उफ तक नहीं की। प्रधानमंत्री ने जनमानस को विश्वास दिलाया कि गरीब, दलितों, किसानों, मध्यम वर्ग और आदिवासियों ने जो कष्ट उठाया, वह बेकार नहीं जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी की परेशानियों में तपकर देश सोना बनकर निकलेगा। प्रधानमंत्री ने एक बार फिर जनता से 50 दिन का समय मांगा और गरीब आम जनता को विश्वास दिलाया कि जनता की मुश्किल देखते हुए सरकार लचीलापन भी अपनाएगी। 

लेकिन प्रधानमंत्री ने काला धन रखने वालों के प्रति अपना सख्त रुख रखा। प्रधानमंत्री ने गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के बच्चों के दाखिले के लिए स्कूलों द्वारा ली जाने वाली डोनेशन को लूट बताते हुए जनता को विश्वास दिलाया कि सरकार इस लूट को खत्म करने कि दिशा में जल्द ही ठोस कदम उठाएगी और इस व्यवस्था को खत्म किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने विपक्षियों और काला कारोबारियों को निशाने पर लेते हुए कहा कि कुछ लोग 70 साल से देश की पूरी अर्थव्यवस्था को लूटते रहे। 

जनता का पैसा लेकर अपना कारोबार चलाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिवर्तन रैली में बसपा प्रमुख मायावती का नाम न लेते हुए अप्रत्यक्ष रूप से प्रहार करते हुए कहा कि कुछ लोगों का सब कुछ लूटा। पीएम ने मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि वहां कहा जाता था इतने करोड़ में एमएलए बनोगे। ऐसे लोगों का सब लुट गया। नोट वापस हो गए। यह व्यवस्था अब बंद हो जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा से नोटबंदी का विरोध कर रहीं ममता बनर्जी पर भी अप्रत्यक्ष रूप से से निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी का वो लोग विरोध कर रहे हैं, जिन्होंने जनता के पैसे को चिटफंड (शारदा चिटफण्ड) में लगवा दिया। 

जिससे गरीब लोगों को आत्महत्याएं तक करनी पड़ीं। प्रधानमंत्री ने ममता के हरे जख्मों पर फिर से नमक छिडक़ दिया क्योंकि ममता सरकार और तृणमूल कांग्रेस के लोगों की शारदा चिटफण्ड को लेकर बहुत फजीयतें हुयी हैं। यह मामला पश्चिम बंगाल की चिटफंड कंपनी शारदा ग्रुप से जुड़ा हुआ है। जिसने आम लोगों के ठगने के लिए कई लुभावने ऑफर दिए। लुभावने ऑफर के सपने लोगों को दिखाकर 10 लाख लोगों से पैसे लिये। 

जब लोगों को रकम लौटाने की बारी आई तो शारदा चिटफंड कंपनी ने 20,000 करोड़ रुपये लेकर दफ्तरों पर ताला लगा दिया। इस घोटाले में तृणमूल कांग्रेस के कई सांसदों को जेल जाना पड़ा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली में नोटबंदी के जरिए नगर निकायों के फायदे का जिक्र करते हुए कहा कि आज जो पैसे वाले टैक्स नहीं भर रहे थे, वह लाइन में लगे हुए हैं। पीएम ने बैंकों में आये हुए पैसे का भी जिक्र करते हुए कहा कि पिछले 12 दिन में पांच लाख करोड़ रुपये आ चुके हैं।

 पीएम ने अपने संबोधन के जरिए गरीब आम जनता को विश्वास दिलाया कि नोटबंदी के जरिए जो पैसा बैंकों में जमा हुआ है वो पैसा बैंक अपने खजाने में नहीं रखेंगे बल्कि कम ब्याज पर गरीब लोगों को सैलून खोलने, छोटे काम वालों को कर्ज दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिवर्तन रैली में ड्रग्स कारोबार को भी निशाने पर लिया और कहा कि ड्रग्स का सारा काम चेक से न होकर नकद में चलता है। 

नोट बंदी से ड्रग्स कारोबार को झटका लगा है, जो आतंकवाद को पोषित करता है। पीएम ने जनधन के खातों में कालाधन डालने की खबरों पर आम गरीब जनता को सावधान करते हुए कहा कि किसी को अपने खाते में ढाई लाख रुपए नहीं डालने दें। नहीं तो कानून बहुत सख्त है। ऐसे 500 और 1000 के नोटों से दूर रहें। बहरहाल, कहा जा सकता है कि आगरा की परिवर्तन रैली के माध्यम से नरेंद्र मोदी ने 2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी का चुनावी बिगुल पश्चिमी उत्तर प्रदेश से फूंक दिया।
 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.