सभाओं व रोड शो में जुटी भीड़ से वोटों का अंदाजा

Samachar Jagat | Thursday, 16 May 2019 11:14:18 AM
Concepts of votes by crowds gathered at meetings and road shows

लोकसभा चुनाव के 6 चरणों के बाद यह ज्वलंत प्रश्न उठता है कि क्या नेताओं की सभाओं व रोड शो में उमड़ पड़ने वाली भीड़ वोटों के तब्दील होगी? वर्तमान हालात में इस बारे में कोई भी नेता ताल ठोक कर यह नहीं कह सकता कि जुटी भीड़ वोट में तब्दील हो जाएगी। इसमें कोई शक नहीं कि पंडित नेहरू, इंदिरा गांधी, अटल बिहारी वाजपेयी और बाल ठाकरे की सभाओं में स्वयंस्फूर्ति से लाखों की भीड़ उमड़ पड़ती थी, लेकिन क्या अब वैसी बात रह गई है? अब भीड़ किसी अपनेपन की भावना से या भाषण सुनने की उत्सुकता को लेकर नहीं आती। उसे बसों और ट्रकों में भरकर लाया जाता है। गांवों से लाए गए लोगों को मुफ्त में शहर घूमने का मौका मिलता है और साथ ही उनको कुछ भुगतान भी किया जाता है, वरना अपना काम छोडक़र कोई क्यों आएगा।

 रोजी-रोजगार छोडक़र जब पूरा कुनबा चुनावी रैली में आता है तो उसे किराए की भीड़ कहना अधिक सही होगा। वे लोग धूप में घंटों बैठते हैं, नेता का भाषण उनके पल्ले कितना पड़ता है, पता नहीं। आश्वासनों का कितना असर होता हैं, यह भी कोई नहीं जानता। 

नेता भीड़ देखकर खुश होता है और कार्यकर्तागण तसल्ली करते हैं कि रैली में भीड़ जुटाने के उनके प्रयास सफल हुए। कार्यकर्ताओं के दिल में यही भावना रहती है कि उनका नेता और मंत्री खुश होगा, शाबासी देगा। वातानुकूलित कक्ष में आराम से रहने वाले नेता भीषण गर्मी में भी चुनावी दौरे और सभाएं कर रहे हैं क्योंकि उनके लिए राजनीतिक अस्तित्व का सवाल है। राजनीति में उतरे फिल्मी सितारों की शक्ल देखने आने वाली भीड़ उन्हें वोट देगी भी तो केवल आकर्षण की वजह से। 

इन सितारों की राजनीतिक समझ कितनी है अथवा वे अपने चुनाव क्षेत्र की कितनी सेवा करेंगे या जनता का सुख-दुख जानने की कितनी कोशिश करेंगे, इसे लेकर कोई व्यर्थ का भ्रम नहीं पालता। जब फिल्मों से करीब-करीब रिटायर्ड हो गए और हीरो-हीरोइन का रोल करने की उम्र नहीं रही तो राजनीति ही ऐसे कलाकारों शरणस्थली बन जाती है। चुनाव के समय जनता के हितैषी बनने वाले कितने ही नेता बाद में 5 वर्ष तक अपनी शक्ल नहीं और संसद में एक बार भी मुंह नहीं खोलते।  
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.