लक्ष्य ने 8 वर्ष बाद यूथ ओलंपिक में दिलाया पदक

Samachar Jagat | Saturday, 13 Oct 2018 03:23:58 PM
Lakshya Sen takes medal in Youth Olympiad 8 years later

ब्यूनस आयर्स। भारत के शीर्ष जूनियर शटलर लक्ष्य सेन को शुक्रवार यहां यूथ ओलंपिक की पुरूष एकल बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। आठ वर्षों बाद इन खेलों की बैडमिंटन स्पर्धा में भारत का यह मात्र दूसरा पदक है। 17 साल के लक्ष्य को चीन के शीफेंग ली के हाथों 42 मिनट तक चले फाइनल मुकाबले में 15-21, 19-21 से शिकस्त के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

एसजी टेस्ट गेंद से निचले क्रम को रोकना मुश्किल था: उमेश

चौथी सीड भारतीय खिलाड़ी ने हालांकि दूसरे गेम में कमाल की लय दिखाते हुये चार मैच अंक बचाये थे लेकिन ली ने लगातार दो अंक लेकर 21-19 से गेम समाप्त कर दिया और बिना एक भी गेम गंवाये स्वर्ण पदक अपने नाम किया। पहले गेम में ली ने शुरूआत में ही 14-5 की बढ़त बना ली। हालांकि लक्ष्य ने वापसी करते हुये स्कोर 13-16 किया। लेकिन चीनी खिलाड़ी ने फिर बढ़त को 18-13 और 20-14 पहुंचाया।

लक्ष्य ने एक गेम प्वांइट बचाया लेकिन चीनी खिलाड़ी ने अगला गेम अंक जीता और 17 मिनट में पहला गेम जीतकर 1-0 की बढ़त बना ली। दूसरे गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच मुकाबला करीबी रहा। चीनी खिलाड़ी ने 12-7 की बढ़त बनाई लेकिन लक्ष्य ने अंक बटोरे और स्कोर 11-14 किया। लेकिन दोनों के बीच यह अंक अंतर बना रहा और ली ने स्कोर 18-14 और 19-14 किया तथा गेम प्वांइट पर मैच जीत लिया।

शाहरूख, रहमान और गुलजार होंगे विश्व कप हॉकी उद्घाटन समारोह का आकर्षण

लक्ष्य को हालांकि हार के साथ रजत पदक मिला जिसके बाद भारत ने यूथ ओलंपिक खेलों में अब तक अपने पदकों की संख्या सात तक पहुंचा दी है। वह आठ वर्षाें में मात्र दूसरे शटलर हैं जिन्होंने यूथ ओलंपिक में भारत को पदक दिलाया है। इससे पहले वर्ष 2010 में एच एस प्रणय ने पदक जीता था। - एजेंसी

तो वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे टीम में इसलिए चुना गया है ऋषभ पंत को

शरद की ऊंची कूद में स्वर्णिम छलांग, इंडिया के 50 पदक पूरे



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.