श्रमिकों के हित में राजस्थान सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

Samachar Jagat | Tuesday, 24 Mar 2020 10:17:21 AM
Rajasthan government took this big step in the interest of workers

जयपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रदेशवासियों को बचाने के लिए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार द्वारा इन दिनों कई बड़े निर्णय लिए गए हैं। इसी के तहत प्रदेश में 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस दौरान श्रमिकों पर किसी भी तरह का प्रभाव नहीं पड़े इसके लिए श्रम मंत्रालय ने भी राज्य में बड़ा फैसला किया है। ,



loading...

बीकानेर में होटल में ठहरी संदिग्ध फ्रेंच महिला की जांच

श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में लॉकडाउन अवधि तक समस्त दुकानें एवं वाणिज्यिक संस्थान, कारखाने एवं वर्कशाप के बन्द रहते कार्यरत श्रमिकों को उनके नियोजकों द्वारा नौकरी से नहीं निकाला जाएगा और श्रमिक के वेतन से कोई भी कटौती नहीं की जाएगी।

लखनऊ में जनपथ मार्केट को पूरी तरह किया गया सैनिटाइज

श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण आईसोलेशन में रखे गए श्रमिकों को उनकी मजदूरी की हानि की क्षतिपूर्ति भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल द्वारा की जाएगी।  

 उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण अगर कोई नियोक्ता आपको नौकरी से निकाले या बिना वेतन और मजदूरी के छुट्टी देने का प्रस्ताव रखें या किसी भी प्रकार की वेतन कटौती करें तो इसकी शिकायत लेबर लाइन पर की जा सकती है। श्रम विभाग, राजस्थान सरकार द्वारा संचालित इस लेबर लाइन का नंबर 1800 1800 999 है।  इस संबंध में लोग 73000 65959 और  97844 67278  मोबाइल नम्बरों पर भी शिकायत कर सकते हैं। 

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.