Amrish Puri: मज़बूरी में खलनायक बने थे अमरीश पुरी, मुंहमांगी फीस ना मिलने पर छोड़ देते थे फिल्म

Samachar Jagat | Tuesday, 22 Jun 2021 08:54:28 AM
Hindi cinema popular villian 'Mogambo' was rejected for his face look

बॉलीवुड में अपनी शानदार अदाकारी से सभी का दिल जीतने वाले अमरीश पुरी का जन्म आज ही के दिन हुआ था. अमरीश पुरी ने कई बेहतरीन फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभाई और उसी भूमिका ने उन्हें लोगों के दिलों में गहरी छाप छोड़ी। इसी रोल की वजह से लड़कियां उनसे डरने लगी थीं। एक अभिनेता के लिए उनका स्क्रीन टेस्ट पहली बार 1954 में हुआ था और उस दौरान निर्माता उन्हें पसंद नहीं करते थे।

 

उस समय निर्माताओं ने उन्हें यह कहते हुए फिल्मों में ले जाने से साफ इनकार कर दिया था कि उनका चेहरा हीरो बनने के लायक नहीं है। इससे अमरीश पुरी काफी आहत हुए थे। फिर उन्होंने फिल्मों में खलनायक की भूमिका चुनी जो उनकी मजबूरी थी। लेकिन तब शायद उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं था कि वह नेगेटिव किरदार निभाकर बॉलीवुड के महान 'खलनायकों' में शामिल हो जाएंगे। अमरीश पुरी भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन वह अभी भी फिल्म उद्योग के सबसे प्रसिद्ध खलनायकों में से एक हैं।

 


अमरीश पुरी को अभिनय का शौक था और इसीलिए उन्होंने निर्माताओं के मना करने और थिएटर में काम करने के बाद भी अभिनय नहीं छोड़ा। अमरीश ने 'निशांत', 'मंथन', 'भूमिका', 'ईमान-धर्म', पापी, अलीबाबा मरजीना, जानी दुश्मन, सावन को आया दो, आरोग्य और कुर्बानी जैसी फिल्मों में काम कर लोगों का दिल जीता। सुपरहिट विलेन बनने के बाद अमरीश मनचाही फीस वसूलने लगे और अगर वह फीस नहीं मिली तो वह फिल्म छोड़ देंगे। उन्होंने 'राम लखन', 'सौदागर', 'करण-अर्जुन', 'कोयला' जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम कर ज्यादा सुर्खियां बटोरी। नेगेटिव के अलावा अमरीश ने भी पॉजिटिव किरदार निभाए और 12 जनवरी 2005 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.