Nobel Prize in Literature 2021 : तंजानिया के 73 साल के उपन्यासकार अब्दुलरजाक गुरनाह ने जीता साहित्य का नोबेल प्राइज 2021, 1960 के दशक में शरणार्थी के रूप में तंजानिया से इंग्लैंड पहुंचे थे

Samachar Jagat | Thursday, 07 Oct 2021 05:21:38 PM
 Nobel Prize in Literature 2021 : 73-year-old Tanzanian novelist Abdulrazak Gurnah won the Nobel Prize in Literature 2021, arrived in England from Tanzania as a refugee in the 1960s

इंटरनेशनल डेस्क। नोबेल प्राइज लिट्रेचर 2021 की आज गुरुवार को घोषणा कर दी गई है। साहित्य का इस वर्ष का नोबेल तंजानिया के उपन्यासकार अब्दुलराजाक गुरनाह को दिया जाएगा। स्वीडन में नोबेल प्राइज कमेटी ने आज इनके नाम की घोषणा की है। तंजानिया के उपन्यासकार अब्दुलराजाक गुरनाह ने उपनिवेशवाद के प्रभावों और संस्कृतियों और महाद्वीपों के बीच की खाई में शरणार्थियों के भाग्य के बारे में अपनी अडिग और करुणामय पैठ के लिए साहित्य में 2021 का नोबेल पुरस्कार जीता।

 

The 2021 Nobel Prize in Literature is awarded to the novelist Abdulrazak Gurnah “for his uncompromising and compassionate penetration of the effects of colonialism and the fate of the refugee in the gulf between cultures and continents” pic.twitter.com/AOoprBEEbS — ANI (@ANI) October 7, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, तंजानिया के उपन्यासकार अब्दुलराजाक का जन्म 1948 में हुआ था। 73 साल के गुरनाह हिंद महासागर में ज़ांज़ीबार द्वीप पर पले-बढ़े लेकिन 1960 के दशक के अंत में एक शरणार्थी के रूप में इंग्लैंड पहुंचे। केंट विश्वविद्यालय, कैंटरबरी में अंग्रेजी और उत्तर औपनिवेशिक साहित्य के प्रोफेसर थे और दस उपन्यास और कई लघु कथाएँ प्रकाशित कर चुके हैं।

तंजानिया के उपन्यासकार अब्दुलराजाक की स्वाहिली पहली भाषा थी। लेकिन इसके बाद उन्होंने अंग्रेजी में साहित्यिक यात्रा शुरू की। 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.