Poland ने रूस निर्मित मिसाइल की चपेट में आने से दो लोगों की मौत का किया दावा

Samachar Jagat | Wednesday, 16 Nov 2022 11:34:30 AM
Poland claims two killed after being hit by Russian-made missile

वॉरसॉ : पौलेंड का कहना है कि एक रूस निर्मित मिसाइल देश के पूर्वी हिस्से में गिरी, जिसकी चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गई। वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि इस मिसाइल के रूस द्बारा दागे जाने की ''संभावना कम’’ हैं, लेकिन वह पोलैंड की जांच में सहयोग करेंगे।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने इस हमले को '' युद्ध को बढ़ावा देने वाला’’ कदम बताते हुए इसकी निंदा की। वहीं बाइडन ने मामले पर इंडोनेशिया में जी7 और उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो)देशों के नेताओं की एक 'आपात’ बैठक बुलाई। अगर मिसाइल के रूस निर्मित होने की पुष्टि हो जाती है तो रूस को गठबंधन से टकराव का सामना कर पड़ सकता है, क्योंकि नाटो गठबंधन की नींव इस सिद्धांत पर रखी गई है कि किसी भी सदस्य देश पर हमला गठबंधन पर हमला माना जाएगा। हालांकि रूस ने पोलैंड में हुए विस्फोट में उसका हाथ होने की बात से इनकार किया है।

रूस के रक्षा मंत्रालय ने ''यूक्रेन-पोलैंड सीमा के पास मिसाइल हमले’’ में उसका हाथ होने से इनकार करते हुए एक बयान में कहा कि तस्वीरों में कथित तौर पर जो नुकसान नजर आ रहा है, उसका रूसी हथियारों से ''कोई लेना-देना’’ नहीं है। अमेरिका के तीन अधिकारियों ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार पोलैंड में गिरी मिसाइल को यूक्रेन की सेना ने रूस द्बारा दागी गई मिसाइल के जवाब में प्रक्षेपित किया था। गौरतलब है कि रूस ने मंगलवार को यूक्रेन के पूर्व से लेकर पश्चिमी इलाके तक ऊर्ज़ा तथा अन्य प्रतिष्ठानों पर हवाई हमले किए थे, जिससे एक बड़ा बिजली संकट खड़ा हो गया।

बाइडन का इंडोनेशिया में मामले पर दिया बयान और यह शुरुआती आकलन अमेरिका के वरिष्ठ खुफिया अधिकारी के बयान से अलग है, जिन्होंने 'द एसोसिएटेड प्रेस’ (एपी) ने कहा था कि रूसी मिसाइल, पोलैंड की सीमा में गिरी। पोलैंड के प्रधानमंत्री मैटिअस्ज मोराविएकी ने कहा कि उनकी सरकार हमले की जांच कर ही है और सैन्य तैयारियां भी बढ़ा दी गई हैं। पोलैंड के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार देर रात एक बयान जारी कर कहा था कि मिसाइल के रूस निर्मित होने का पता चला है। हालांकि, पोलैंड के राष्ट्रपति एंड्रेज डूडा ने बताया कि अभी अधिकारियों को यह पता नहीं चल पाया है कि मिसाइल किसने और कहां से दागी। उन्होंने कहा कि यह ''शायद’’ रूस निर्मित है, लेकिन इस तथ्य की अभी पुष्टि की जा रही है।

डूडा ने कहा, '' हम धैर्य के साथ काम कर रहे हैं। यह एक कठिन परिस्थिति है।’’ वहीं मिसाइल रूस द्बारा दागे जाने के सवाल पर इंडोनेशिया में बाइडन ने पत्रकारों से कहा, ''प्रारंभिक जानकारी इसका खंडन करती है। प्रक्षेपवक्र को देखते इसके रूस द्बारा दागे जाने की संभावना नहीं है, लेकिन हम इस पर गौर करेंगे।’’ राष्ट्रपति बाइडन ने बुधवार सुबह पोलैंड के राष्ट्रपति को फोन किया और घटना पर ''गहरी संवेदना व्यक्त की।’’ बाइडन ने ट्वीट किया, ''पोलैंड की जांच में अमेरिका पूर्ण सहयोग करेगा।

हम नाटो के लिए अमेरिका की दृढ़ प्रतिबद्धता को दोहराते हैं।’’ इस बीच, उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने पोलैंड की यूक्रेन से लगी सीमा के पास हुए मिसाइल हमले पर चर्चा करने के लिए ब्रसेल्स में गठबंधन देशों के दूतों की एक आपात बैठक बुलाई। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के भी बुधवार को बैठक करने की उम्मीद है। यूक्रेन की स्थिति पर आज परिषद की बैठक पहले से ही निर्धारित थी। 



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.