Health Tips : खुलकर हंसते तो हैं हम कई बार, लेकिन कभी-कभी रोना भी जरूरी है, भावनात्मक आंसू ऐसे पहुंचाते हैं हमारे शरीर को राहत ?

Samachar Jagat | Thursday, 25 Mar 2021 06:19:29 PM
Health Tips: Many times we laugh openly, but sometimes it is necessary to cry, emotional tears bring relief to the body in this way?

लाइफस्टाइल डेस्क। आम तौर पर लोग रोने को कमजोरी की निशानी मानते हैं। यही वजह है कि पुरुष आंसू बहाने या रोने से परहेज करते हैं। लेकिन विज्ञान में यह बात साबित हुई है कि अगर आप अपनी भावनाओं को खुलकर व्‍यक्‍त करते हैं और हंसने के साथ साथ रोते भी हैं तो इसके कई फायदे हो सकते हैं। जिस तरह खुलकर हंसना हेल्‍थ के लिए अच्‍छा माना जाता है उसी तरह मन भर रोना भी शरीर और मन के लिए बहुत जरूरी है।

रिफ्लैक्‍स आंसू तब आता है जब आंखों में कोई कचरा या धुंआ गया हो। दूसरा है बुनियादी आंसू जिसमें 98 प्रतिशत पानी होता है और यह आंखों को लुब्रिकेट रखता है और इंफेक्शन से बचाता है। तीसरा है भावनात्मक आंसू जिसमें स्ट्रेस हॉर्मोन्स और टॉक्सिन्स की मात्रा सबसे अधिक होती है और इनका बाहर निकलना बहुत जरूरी होता है। आपको बता दें कि मनुष्य ही एकमात्र ऐसा प्रजाति है जो रो सकता है।

तो आइये जानते हैं आखिर कभी कभी रोना क्‍यों जरूरी और इससे हमारे शरीर को क्या लाभ है...


1. आराम महसूस कराता है।

2. दर्द से मिलता है आराम।

3. फील गुड कैमिकल को करता है रिलीज।

4. शरीर के टौक्सिन को करता है बाहर।

5. आती है अच्‍छी नींद

 



 
loading...




Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.