तो ऐसी है गांधारी द्वारा सौ कौरवों को जन्म देने की कहानी, जानकर हैरान रह जाएंगे आप

Samachar Jagat | Wednesday, 27 May 2020 01:26:53 PM
Thus Gandhari gave birth to hundred sons

इंटरनेट डेस्क। दूरदर्शन ने एक बार फिर से महाभारत की यादों को ताजा कर दिया है। टेलीवजन के इस लोकप्रिय शो को एक बार फिर से दर्शकों ने काफी पसंद किया है।  आज हम आपको दुर्योधन की मां गांधारी के बारे में एक बात बताने जा रहे हैं जिसके बारे में शायद ही आपको जानकारी हो। गांधारी के बारे में सभी के मन में एक प्रश्र उठता है कि आखिर उन्होंने एक साथ सौ पुत्रों को जन्म कैसे दिया? 

इस महिला की बात मानकर करीना ने की थी सैफ अली खान से शादी, इससे पहले दो बार कर चुकी थी मना

बताया जाता है कि एक समय महर्षि वेदव्यास हस्तिनापुर आए। इस दौरान गांधारी द्वारा की गई सेवा से खुश होकर उन्होंने गांधारी को 100 पुत्रों की प्राप्ति होने का वरदान दिया। इसके कुछ समय बाद ही गांधारी गर्भवति हो गई थी, लेकिन 2 साल तक गर्भ के ठहरे रहने के बाद वह डर गई और उसने अपना गर्भ भी गिरा दिया। इस दौरान गांधारी के पेट से एक मांस पिंड निकला। अपनी दिव्यदृष्टि से यह देख महर्षि व्यास गांधारी के सामने आए। 

दुर्याेधन ने अपनी पत्नी को कमरे में कर्ण के साथ देख लिया था इस स्थिति में, तभी ... 

इसके बाद महर्षि व्यास ने इस पिंड पर जल छिडक़ने को कहा। इसके साथ ही इस पिंड के सौ टुकड़ें हो गए। महर्षि व्यास ने पिंड़ों को घी से भरे कुंडों में डालने की बाद कह कर वहां से चले गए। दो वर्ष का समय होने के बाद गंधारी को सौ पुत्रों की प्राप्ति हुई। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.