Kejriwal ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 15 सूत्री शीतकालीन कार्य योजना की घोषणा की

Samachar Jagat | Friday, 30 Sep 2022 03:24:54 PM
Kejriwal announces 15-point winter action plan to tackle air pollution

नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल ने राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए शुक्रवार को 15 सूत्री शीतकालीन कार्य योजना की घोषणा की, जिसमें कचरा जलाने, धूल और वाहनों से होने वाले उत्सर्जन को रोकने के लिए दल गठित करना शामिल है। केजरीवाल ने कहा कि सरकार द्बारा 2020 में इलेक्ट्रिक वाहन नीति लाने और 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने समेत अन्य कदम उठाने से पिछले चार वर्ष में वायु प्रदूषण के स्तर में 18.6 प्रतिशत की कमी आयी है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के शहरों, केंद्र तथा वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) समेत विभिन्न पक्षकारों के बीच सहयोग की आवश्यकता पर जोर देते हुए केजरीवाल ने प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए पड़ोसी राज्यों से उद्योगों द्बारा पाइप से प्राकृतिक गैस का इस्तेमाल करने, ईंट के भट्टों द्बारा जिग-जैग तकनीक का इस्तेमाल, जेनरेटरों पर प्रतिबंध तथा चौबीसों घंटे बिजली आपूर्ति का अनुरोध किया।

उन्होंने कार्य योजना की घोषणा करते हुए कहा कि सरकार इस साल करीब 5,000 एकड़ जमीन पर पराली के निपटान के लिए पूसा जैव-अपघटक का छिड़काव कराएगी। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा, ''दिल्ली सरकार प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए 233 एंटी-स्मॉग गन और 150 मोबाइल एंटी-स्मॉग गन लगाएगी। सरकार ने एक हरित कक्ष भी बनाया है जिसमें नौ वैज्ञानिक विशेषज्ञ होंगे जो स्थिति पर नजर रखेंगे।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) खड़गपुर के साथ वायु गुणवत्ता पर नजर रखने के लिए राउज एवेन्यू में नियंत्रण केंद्र बनाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने खुले में कचरा जलाने से रोकने के लिए 611 दल गठित किए हैं और वह धूल रोधी अभियान चलाएगी। सरकार ने पटाखों पर प्रतिबंध को लागू करने के लिए दलों का गठन किया है।

उन्होंने कहा कि छह अक्टूबर से सरकार धूल रोधी अभियान भी चलाएगी, जिसमें 586 दल, निर्माण स्थलों का दौरा कर यह सुनिश्चित करेंगे कि वहां धूल से होने वाले प्रदूषण को रोकने के उपायों का सख्ती से पालन किया गया हो। सरकार ने 500 वर्ग मीटर से अधिक के निगरानी केंद्रों का गठन करने तथा एंटी-स्मॉग गन लगाने का निर्देश दिया है। वह धूल को रोकने के लिए पानी के छिड़काव के 581 यंत्र और 150 मोबाइल स्मॉग टावर भी लगाएगी। केजरीवाल ने मार्गों में परिवर्तन के जरिए 203 सड़कों पर भीड़भाड़ कम करने की योजना का भी एलान किया ताकि यातायात जाम के कारण वाहन से होने वाला उत्सर्जन कम हो।

केजरीवाल ने कहा कि इसके अलावा सरकार ई-कचरा पार्क भी बना रही है, जहां राष्ट्रीय राजधानी से एकत्रित किए गए इलेक्ट्रॉनिक कचरे का शोधन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रीन दिल्ली ऐप भी सफल हुआ है और उस पर कचरा जलाने समेत 53,000 से अधिक शिकायतें आयी हैं। उन्होंने कहा कि प्रदूषण से निपटने के लिए 3,500 से अधिक पर्यावरण मित्र काम कर रहे हैं और उन्होंने लोगों से शहर को प्रदूषण मुक्त बनाने में योगदान देने के लिए पंजीकरण कराने का अनुरोध किया।



 

Copyright @ 2022 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.