पीएम मोदी ने यूपी में 75 आधुनिक इलेक्ट्रिक बसों को लखनऊ, कानपुर, वाराणसी सहित कई जिलों में किया डिजिटली रवाना, बोले - 75 साल की उपलब्धियां देश के नए संकल्पों को प्रदर्शित कर रही

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Oct 2021 01:14:11 PM
PM Modi digitally flagged off 75 modern electric buses in many districts including Lucknow, Kanpur, Varanasi in UP, said - achievements of 75 years are displaying new resolutions of the country

इंटरनेट डेस्क। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज मंगलवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे। यहां पीएम मोदी ने फेम(एफएएमइ)-II के तहत 75 आधुनिक इलेक्ट्रिक बसों को लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर, झांसी और गाजियाबाद के लिए डिजिटली रवाना किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे अच्छा लगा कि 3 दिनों तक लखनऊ में भारत के शहरों के नए स्वरूप पर देशभर के विशेषज्ञ एकत्र होकर मंथन करने वाले हैं। यहां जो प्रदर्शनी लगी है, वो आज़ादी के इस अमृत महोत्सव में 75 साल की उपलब्धियां और देश के नए संकल्पों को भलीभांति प्रदर्शित करती हैं। 

 

Under PM Awas Yojana, over 80% of the houses are either owned by women or they are joint onwer of these houses: Prime Minister Narendra Modi in Lucknow pic.twitter.com/FtT1vuhSaZ — ANI UP (@ANINewsUP) October 5, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, पीएम मोदी ने लखनऊ में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे इस बात की खुशी होती है कि देश में पीएम आवास योजना के तहत जो घर दिए जा रहे हैं, उनमें 80% से ज़्यादा घरों पर मालिकाना हक महिलाओं का है या फिर वो ज्वाइंट ओनर हैं। 

 

Lucknow: PM Narendra Modi inaugurated & laid foundation stones of 75 Urban Development Projects of Uttar Pradesh under Smart Cities Mission & AMRUT.

He also flagged off 75 buses under FAME-II for 7 cities incl Lucknow, Kanpur, Varanasi, Prayagraj, Gorakhpur, Jhansi & Ghaziabad pic.twitter.com/ztUn4zE8y8 — ANI UP (@ANINewsUP) October 5, 2021

पीएम मोदी ने कहा कि भारत आज पीएम आवास योजना के तहत जितने पक्के घर बना रहा है वो दुनिया के अनेक देशों की कुल आबादी से भी अधिक हैं। 2014 से पहले जो सरकार थी उसने देश में शहरी आवास योजनाओं के तहत सिर्फ 13 लाख मकान ही मंजूर किए थे, इसमें भी सिर्फ 8 लाख मकान ही बनाए गए। 

 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.