गुर्जर आरक्षण: सरकार का प्रतिनिधी मंडल वार्ता के लिए पहुंचा मलारना डूंगर, नहीं बन सकी गुर्जर नेताओं के साथ बात

Samachar Jagat | Saturday, 09 Feb 2019 05:43:24 PM
Gurjar reservation: minister committee in talks with Struggle committee behalf to government

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

जयपुर। राजस्थान में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों का आंदोलन सवाईमाधोपुर जिले में आज दूसरे दिन भी जारी रहा और अन्य जगहों पर भी सडक़ पर जाम लगाने से आंदोलन फैलता जा रहा है। अब सरकार की तरफ से आंदोलन कर रहे गुर्जरों को सरकार की तरफ से मनाने का कवायद शुरू हो गई है। सरकार की ओर से गठित की गई मंत्रियों की समिति शाम बजे से आंदोलन​कारियों से मसले पर बात कर रही है। वार्ता सवाई माधोपुर के मलराना डूंगर में दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर चल रहे आंदोलन स्थल पर हो रही है। सरकार की तरफ से मंत्री विश्वेंद्र सिंह और आईएएस नीरज के. पवन के साथ पहले दौर की वार्ता करने धरना स्थल पर पहुंचे। सिंह ने गुर्जर नेताओं से बात की, लेकिन बात नहीं बन सकी। 



सरकार की तरफ से गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति से वर्ता के लिए सरकार की तरफ से बनाई गई समिति में शामिल डा. रघु शर्मा ने कहा कि सरकार के पाास बातचीत के दरवाजे हमेशा खुले हे। कमेी में शामिल पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह लगातार गुर्जर नेताओं के संपर्क में है। 


गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने कहा कि हमारे पास अच्छे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री हैं। हम चाहते हैं कि वे गुर्जर समुदाय की मांगें सुनें। उनके लिए आरक्षण देना कोई बहुत बड़ा काम नहीं है। इसके साथ ही उन्होने शुक्रवार को बताया कि राज्य सरकार (अशोक गहलोत सरकार) को अपने वादे पर खरा उतरना चाहिए। हालात बदल गए हैं, इस बार हम चूकेंगे नहीं। 


बैंसला ने प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्वक आंदोलन करने की अपील की थी। बैंसला ने आंदोलन के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उन्होंने अपनी मांग को लेकर सरकार को बीस दिन पहले ही चेतावनी दे दी थी कि इस दौरान उनका हक दे दे, लेकिन सरकार ने उनकी अनदेखी की। अब जो होगा उसके लिये हम जिम्मेदार नहीं हैं, इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.